हरियाणा चौकसी ब्यूरो ने की रिश्वतखोर लोगों पर शिंकजा कसने की तैयारी, लिया बड़ा फैंसला

Spread the News

हरियाणा में अब भृष्टाचारी बाबुओं को देने के लिये रिश्वत की रकम स्वयं सरकार उपलब्ध करवाएगी। विजिलेंस ब्यूरो ने इसके लिये करीब एक करोड़ रुपये के फंड की व्यवस्था की है। मकसद है रिश्वतखोर लोगों को पकड़वाने के लिए राह आसान करना। हरियाणा में यदि कोई बाबू आपसे काम के बदले रिश्वत की भारी भरकम रकम की मांग करता है तो यह चिंता मत कीजिये कि भृष्टाचारी बाबू को देने के लिए मोटी रकम का इंतजाम होगा कैसे। सरकार रिश्वत के तौर पर मांगी जाने वाली बड़ी से बड़ी राशि का इंतजाम खुद करेगी मगर असल मकसद रिश्वतखोरी को बढ़ावा देना नही बल्कि रिश्वतखोरी पर पूर्ण तौर पर शिंकजा कसना है।

दरअसल रिश्वत मांगने वाले किसी बाबु को रंगे हाथ पकड़वाने के लिए रिश्वत में दी जाने वाली राशि का इंतजाम खुद ही करना होता है और कई बार मांगी गई रिश्वत की रकम ज्यादा होने की वजह से या तो शिकायतकर्ता इसका इंतजाम नही कर पाता है या फिर बड़ी रकम केस प्रोपर्टी बन जाने की वजह से काफी दिनों तक शिकायत करता को वापिस ना मिल पाने की वजह से शिकायत करता को काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। इसकी वजह से रिश्वतखोरी की कई शिकायतें सरकार तक पहुंच ही नही पाती थी। इसी वजह से सरकार ने अब रिश्वत की रकम का इंतजाम करने की व्यवस्था खुद करने का मार्ग निकाला है।
फिलहाल देखना होगा कि सरकार के इस कदम से रिश्वतखोरी की शिकायतों में कितनी कमी आएगी।