नर्स मरीजों के साथ ऐसा व्यवहार करें कि वे अपनी बीमारी भूल जाएं : CM Yogi

Spread the News

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को स्टाफ नर्सों को मरीजों के प्रति सेवा और समर्पण का भाव दिखाने की नसीहत देते हुए कहा कि आपको मरीजों के साथ ऐसा व्यवहार करना चाहिए कि वे अपनी बीमारी भूल जाएं। योगी ने लखनऊ स्थित लोक भवन में उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा चयनित 1,354 स्टाफ नर्सों के नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में यह टिप्पणी की हैं। उन्होंने कहा, कि स्टाफ नर्स स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ होती हैं। आपको (स्टाफ नर्स) अस्पताल में मरीजों के साथ सबसे अधिक समय रहना पड़ता है। आपका व्यवहार मरीजों की तकलीफ को दूर करता है। आपको अपना व्यवहार ऐसा रखना चाहिए कि मरीज भूल जाए कि वह बीमार है।

योगी ने नर्सों को प्रेरित करते हुए कहा, कि आपको अस्पतालों में दुख-तकलीफ के बजाय एक स्वस्थ माहौल कायम करने का प्रयास करना चाहिए। ऐसा माहौल बनाना चाहिए, जिससे बीमार व्यक्ति भी ऊर्जा प्राप्त कर सके। मुख्यमंत्री ने कहा, कि कोई भी मरीज सिर्फ दवा से ठीक नहीं हो सकता। चिकित्सक और स्टाफ नर्स को अपने स्तर पर प्रयास करने होंगे। प्रशिक्षण के दौरान आपने जो सीखा है, जो शपथ ली है, अगर आप उसकी नींव पर आगे बढ़ेंगे तो एक समय के बाद आपकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। उन्होंने कहा, कि लोग आपको (स्टाफ नर्स) सिस्टर कहकर सम्मान देते हैं। यह सम्मान बनाए रखना है। यह एक बड़ी जिम्मेदारी है और आपको इससे जुड़ाव महसूस करना होगा।

योगी ने कहा, कि मुझे खुशी है कि 1,354 नर्सों का चयन पारदर्शी तरीके से किए जाने के बाद नियुक्ति पत्र वितरण समारोह आयोजित किया गया है। उन्होंने बताया कि बीते पांच वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से उत्तर प्रदेश शासन की शासकीय सेवाओं में पारदर्शी और निष्पक्ष चयन प्रक्रिया के माध्यम से पांच लाख युवाओं को विभिन्न पदों पर नियुक्ति प्रदान की गई है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद राज्य में आए बदलावों का जिक्र करते हुए योगी ने कहा, कि जिस प्रदेश को पहले एक बीमारू राज्य माना जाता था, आज यह बताते हुए खुशी हो रही है कि वह प्रदेश देश की दूसरी सबसे मजबूत अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में तेजी से अग्रसर है।