करनाल रोड पर स्थित प्राइवेट अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत

Spread the News

कैथल: यहां करनाल रोड स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में ईलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई। महिला की मौत के बाद गुस्साए परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया। परिजनों ने चिकित्सक पर इलाज के दौरान लापरवाही का आरोप लगाया है। मृतक महिला मेनका (28) के जेठ राजेन्द्र निवासी बालाजी कॉलोनी का कहना है कि उन्होंने तीन दिन पूर्व बुखार से पीड़ित मेनका को करनाल रोड स्थित अनन्यया अस्पताल में भर्ती करवाया
था। आरोप है कि अस्पताल के चिकित्सकों ने परिजनों को गुमराह करके रखा और मरीज का ठीक से इलाज नहीं किया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने इसी बीच डाक्टर को कहा कि अगर उनके मरीज की तबीयत में सुधार नहीं हो रहा है कि वे उसकी अस्पताल से छुट्टी कर दें ताकि वे अपने मरीज को किसी और अस्पताल में इलाज करवा सकें।

लेकिन डाक्टर ने उन्हें गुमराह करके रखा और अपने पैसे बनाने के चक्कर में छुट्टी भी नहीं दी। अगर डाक्टरसमय रहते परिजनों को स्पष्ट बात बताते हुए उसकी छुट्टी कर देता तो आज मेनका जीवित होती। आरोप है कि सही ईलाज न होने के कारण तीसरे दिन ही उसकी मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि मेनका को प्लेटलेट्स कम होने की शिकायत थी। दो दिन तक डाक्टर उन्हें बार बार यही कहते रहे कि उनकी सेहत में सुधार हो रहा है लेकिन रविवार दोपहर को अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई। अस्पताल के बाहर हंगामें की सूचना पाकर मौके पर सिविल लाईन पुलिस पहुंची और उन्होंने परिजनों को समझा बुझाकर सडक से हटने व डैड बॉडी को लेकर जाने का अनुरोध किया लेकिन परिजन नहीं माने। परिजनों की पुलिस से मांग थी कि इलाज में लापरवाही बरतने वाले डाक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए। सिविल लाइन थाना से पहुंचे सब इंस्पेक्टर राजकुमार ने परिजनों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद ही परिजन वहां से डैड बॉडी को पोस्ट पार्टम के लिए सरकारी अस्पताल ले गए। इस बारे में जब सब इंस्पेक्टर राजकुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्हें परिजनों की तरफ से अभी तक शिकायत नहीं मिली है। परिजनों की शिकायत मिलती की केस दर्ज कर जांच की जाएगी।