America के नाइट क्लब में हुई गोलीबारी, 5 लोगों की मौत, 25 घायल

Spread the News

डेनवरः अमेरिकी राज्य कोलोराडो में एक समलैंगिक नाइट क्लब के भीतर एक बंदूकधारी ने गोलीबारी की हैं। इससे कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और 25 अन्य घायल हो गए। घटना शनिवार देर रात कोलोराडो स्प्रिंग्स शहर के क्लब क्यू में हुई, जो राज्य की राजधानी डेनवर से करीब एक घंटे की दूरी पर स्थित है। यह जानकारी कोलोराडो स्प्रिंग्स पुलिस विभाग ने दी हैं। पुलिस ने कहा कि सूचना मिलने पर पुलिसकर्मी आधी रात को मौके पर पहुंचे और आरोपी 22 वर्षीय एंडरसन ली एल्ड्रिच को हिरासत में ले लिया गया।

कोलोराडो स्प्रिंग्स के पुलिस प्रमुख एड्रियन वास्केज ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि एल्ड्रिच ने राइफल के साथ क्लब में प्रवेश करते ही गोलीबारी शुरू कर दी। प्रारंभिक साक्ष्य संकेत मिलता है कि संदिग्ध ने क्लब क्यू में प्रवेश किया और तुरंत अंदर के लोगों पर गोली चलानी शुरू कर दी। पुलिस ने कहा, कि क्लब के अंदर दो लोगों ने उसे रोकने की कोशिश की। इससे अन्य कई लोगों की जान बच गई। हम उनका धन्यवाद करते हैं।

घटनास्थल से दो आग्नेयास्त्र बरामद हुए हैं और माना जा रहा है कि हमलावर ने लंबी राइफल का इस्तेमाल किया था। क्लब उस समय एक डांस पार्टी की मेजबानी कर रहा था। ट्रांसजेंडर डे ऑफ रिमेंबरेंस मनाने के लिए रविवार शाम को एक प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बनाई गई थी। इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रविवार को कहा कि अमेरिका में एक और समुदाय बंदूक की हिंसा से बिखर गया है।

बंदूक हिंसा का हमारे देश में एलजीबीटीक्यू समुदायों पर विनाशकारी प्रभाव पड़ना जारी है और हिंसा के खतरे बढ़ रहे हैं। ऐसे स्थानों को कभी भी आतंक और हिंसा के स्थानों में नहीं बदलना चाहिए हम नफरत को बर्दाश्त नहीं कर सकते और हमें नहीं करना चाहिए। बाइडेन ने इस प्रकार की हिंसा की निंदा करते हुए कहा कि इसे रोकने के लिए हथियारों पर प्रतिबंध लगाने के प्रयासों का आग्रह किया। कोलोराडो स्प्रिंग्स के मेयर जॉन सुथर्स ने एक बयान में इस घटना को एक त्रसदी बताया। कोलोराडो के गवर्नर जारेड पोलिस, जो समलैंगिक हैं, ने उन बहादुर व्यक्तियों की प्रशंसा की, जिन्होंने बंदूकधारी को रोका, जिससे कई अन्य लोगों की जान बच गई। उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, कोलोराडो एलजीटीबीक्यू समुदाय और इस त्रसदी से प्रभावित सभी लोगों के साथ खड़ा है।

गौरतलब है कि 2016 में फ्लोरिडा के ऑरलैंडो में पल्स गे क्लब में हुई गोलीबारी में 49 लोग मारे गए थे और 50 से अधिक घायल हो गए थे। एक स्वंयसेवी संगठन ने गन वायलेंस आर्काइव द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के अनुसार बताया कि अमेरिका में बंदूक हिंसा से अब तक लगभग 40 हजार लोगों की जान चली गई है।