सामान्य समृद्धि, मानव जाति का सामान्य सपना

Spread the News

शांति और विकास अभी भी वर्तमान युग का प्रमुख विषय है। ऐसा इसलिए है क्योंकि केवल शांति ही विकास की ओर ले जा सकती है, और केवल विकास ही धन को बढ़ा सकता है और अधिक लोगों को गरीबी और भूख से मुक्त कर सकता है। हालाँकि, दुनिया में अभी भी ऐसे लोग हैं जो एकतरफावाद, संरक्षणवाद और आधिपत्यवाद में संलग्न होने के इच्छुक हैं। और सत्ता की राजनीति विश्व शांति और विकास को खतरे में डालने वाला एक प्रमुख कारक बन गई है। उधर चीन हमेशा सभी मानव जाति की समृद्धि के साझा सपने को साकार करने के लिए स्थायी शांति को बढ़ावा देने पर जोर देता है।

सामान्य समृद्धि प्राप्त करना समस्त मानव जाति का सपना होता है। चीनी लोग प्राचीन काल से इस अवधारणा की वकालत करते रहे हैं, और सामान्य समृद्धि प्राप्त करना हजारों वर्षों से चीनी लोगों का प्रयास रहा है। हजारों वर्षों से, चीनी लोगों की सामान्य समृद्धि की लालसा कभी समाप्त नहीं हुई है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में, दशकों की कड़ी मेहनत के माध्यम से, चीनी लोगों ने अपने जीवन स्तर और सामाजिक शासन की गुणवत्ता में बहुत सुधार किया है, और विश्व-प्रसिद्ध उपलब्धियाँ हासिल की हैं। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद से, गरीबी उन्मूलन के कार्यों में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल हुई हैं, और लगभग 10 करोड़ ग्रामीण गरीब लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया है। सभी लोगों को सामान्य समृद्धि प्राप्त करने दें, यह चीन की समाजवादी व्यवस्था की अनिवार्य आवश्यकता है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने हमेशा “जन-केंद्रित” विकास दर्शन का पालन किया है, और हमेशा लोगों की इच्छा को विकास का केंद्र बनाया है, ताकि सभी लोग आर्थिक विकास के फल साझा करें।

समृद्ध और स्थिर जीवन की खोज मनुष्य की बुनियादी और उचित मांग है। हालांकि, कुछ देशों ने असमान अंतरराष्ट्रीय आर्थिक और वित्तीय व्यवस्था के आधार पर अधिकांश संसाधनों और धन को नियंत्रित किया है, जबकि बहुत से विकासशील दुनिया में बहुत से लोग अभी भी गरीबी और भूख से पीड़ित हैं। उधर चीनी कम्युनिस्ट पार्टी समाजवादी व्यवस्था की अवधारणा का पालन करती है और सामान्य समृद्धि के विकास पथ का पालन करती है। पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद से, चीन ने गरीबी को खत्म करने और लोगों की आजीविका में सुधार के लिए बहुत प्रयास किए हैं। वर्तमान में, चीनी अर्थव्यवस्था का पैमाना 100 ट्रिलियन युआन से अधिक हो गया है, जिसने सामान्य समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए एक ठोस भौतिक नींव रखी है। अब चीन में कोई भी जीवन की बुनियादी जरूरतों जैसे भोजन, कपड़े, आवास और परिवहन से परेशान नहीं है। चीन सार्वजनिक सेवाओं का और विस्तार करने, समाज, अर्थव्यवस्था और संस्कृति के व्यापक विकास को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है। वर्तमान में, चीन वितरण प्रणाली में सुधार कर रहा है, और आय अंतर को कम करने का प्रयास कर रहा है, ताकि सामाजिक निष्पक्षता की गारंटी की जा सके।

चीन दुनिया का एक हिस्सा होता है, और चीन का विकास विश्व सभ्यता की प्रगतियों का महत्वपूर्ण हिस्सा है। चीन दुनिया के भविष्य के लिए अथक प्रयास कर रहा है। उदाहरण के लिए, चीन की “वन बेल्ट, वन रोड” पहल के तहत किये गये बुनियादी ढांचे के निर्माण ने विभिन्न क्षेत्रों और लोगों के बीच संपर्क को बढ़ावा दिया है, व्यापार के विकास को गति दी है, और कई देशों को कठिनाइयों को दूर करने में मदद की है।  एक नए युग में प्रवेश करते हुए, चीन मानव जाति के लिए अधिक से अधिक योगदान देगा और दुनिया की सामान्य समृद्धि के लिए प्रयास करेगा, जो कि दुनिया भर के लोगों की आम आकांक्षा के अनुरूप भी है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)