खूबसूरती बढ़ाने वाली लिपस्टिक सेहत के लिए बन सकती है जानलेवा, रहें सावधान

Spread the News

केमिकल
लिपस्टिक का निर्माण करने में कई तरह के कमेकल का भी प्रयोग किया जाता है, जिनकी वजह से शरीर पर टॉक्सिक प्रभाव पड़ सकता है। कई लिपस्टिक में लेड का उपयोग भी किया जाता है। खासकर, लिपस्टिक का रंग बनाने के लिए। लिपस्टिक में रंग बनाने के लिए मैंगनीज, लेड और कैडमियम का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद केमिकल की वजह से होठों की रंगत का काला पड़ना और उसके बार-बार सूखने जैसी समस्या हो सकती है ।

harmful effects of lipstick on health,Health,healthy living

एलर्जी
माना जाता है कि लिपस्टिक का इस्तेमाल करने से एलर्जी भी हो सकती है। एक शोध के मुताबिक इसमें इस्तेमाल होने वाली कृत्रिम डाई जब मुंह के माध्यम से शरीर के अंदर पहुंचती है, तो उससे एलर्जी और डर्मेटाइटिस यानी त्वचा पर खुजली, सूजन और लाल चकत्ते हो सकता है।

पेट संबंधी समस्या
लिपस्टिक का इस्तेमाल करने से पेट संबंधी समस्या का खतरा भी बढ़ जाता है। एक रिसर्च के मुताबिक होठों में लगाने वाले सौंदर्य उत्पादों में कई केमिकल का इस्तेमाल होता है। इन रसायन में लेड भी शामिल है। होठों पर लगी लिपस्टिक की वजह से लेड मुंह के माध्यम से पेट तक पहुंच सकता है, जिस वजह से पेट में दर्द, किडनी और लिवर संबंधी समस्या हो सकती है। शोध में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि वैसे तो लिपस्टिक में लेड की कम मात्रा पाई जाती है। बावजूद इसके मेटल युक्त लिपस्टिक के बार-बार होठों पर लगाने से यह पेट में पहुंचकर परेशानी पैदा कर सकता है

harmful effects of lipstick on health,Health,healthy living

किडनी फेलियर
नियमित रूप से लिपस्टिक का उपयोग करने के परिणामस्वरूप किडनी फेलियर भी हो सकता है। ऐसा लिपस्टिक में मौजूद कैडमियम की बड़ी मात्रा के कारण होता है। पेट के ट्यूमर भी एक और समस्या है जो इस जहरीले रसायन की उपस्थिति के कारण हो सकती है।

गर्भावस्था के लिए हानिकारक
लिपस्टिक बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले लेड की वजह से यह गर्भावस्था के लिए भी खतरनाक हो सकता है। यह गर्भवती महिला और उसके भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है। इसकी वजह से गर्भपात तक की समस्या हो सकती है। दरअसल, लिपस्टिक होठों के जरीए पेट तक पहुंच सकती है, जिससे रक्त में लेड का लेवल बढ़ सकता है। गर्भवतियों में लेड यानी सीसा आसानी से प्लेसेंटा को पार कर सकता है, जिससे बच्चे में जन्मजात लेड टॉक्सिटी होने का खतरा बढ़ सकता है ।

harmful effects of lipstick on health,Health,healthy living

शरीर में टॉक्सिन्स
लिपस्टिक को ज्यादातर महिलाएं हर वक्त लगाकर रखती हैं, यहां तक खाना खाते वक्त भी और कई बार गलती से लिपस्टिक खाने के साथ शरीर के अंदर भी चली जाती है। इस कारण लिपस्टिक में मौजूद विषाक्त पदार्थ (टॉक्सिन्स) समय के साथ शरीर में जमा होने लगते हैं और विषाक्तता का कारण बनते हैं। इन धातुओं का सेवन उनकी स्वीकृत दैनिक खपत की सीमा का 20 प्रतिशत से अधिक है।