हरित ऊर्जा को प्रोत्साहित करेगा पंजाब, सभी सरकारी इमारतों पर लगाए जाएंगे सोलर पैनल: अमन अरोड़ा

Spread the News

चंडीगढ़: राज्य में स्वच्छ और प्राकृतिक ऊर्जा के बुनियादी ढांचे को और मजबूत करने के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार राज्य की सभी सरकारी इमारतों को सोलर पैनलों से लैस करने संबंधी विचार कर रही है। इसकी जानकारी साझा करते हुए पंजाब के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्री अमन अरोड़ा ने बताया कि उन्होंने इस संबंधी सभी विभागों के प्रमुखों को पत्र लिखा है। इस पत्र में रिन्यूएबल एनर्जी सर्विसेज कंपनी (रेस्को) मोड के अंतर्गत दफ्तरों की इमारतों की छतों पर सोलर फोटोवोल्टिक (पी.वी.) पैनल लगाने के लिए उनकी सहमति माँगी गई है।

उनकी तरफ से विभागों के प्रमुखों को पंजाब ऊर्जा विकास एजेंसी (पेडा) के साथ तालमेल करने के लिए अपने विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अफ़सर के तौर पर नियुक्त करने की हिदायत भी की गई है, जिससे सम्बन्धित विभागों की इमारतें को सौर ऊर्जा से लैस करने संबंधी प्रक्रिया को सुचारू बनाया जा सके। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि पेडा द्वारा पहले ही विभिन्न सरकारी इमारतों की छतों पर कुल 88 मेगावाट क्षमता वाले सोलर पी.वी. सिस्टम लगाए जा चुके हैं, जो सफलतापूर्वक स्वच्छ ऊर्जा मुहैया करवा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह कदम प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से अनेकों लोगों को रोजग़ार मुहैया करवाने में सहायक होगा। इसके साथ ही यह अधिक लोड वाले बिजली वितरण के नेटवर्क को राहत प्रदान कर बिजली घाटे को पूरा करने में भी मदद करेगा। इसके साथ ही सरकार पर बिजली के ख़र्च का बोझ भी घटेगा। इस तरह यह ऊर्जा का मुहैया करवाने का अधिक सुचारू साधन है।

अमन अरोड़ा ने कहा कि यह प्रोजैक्ट प्राकृतिक ऊर्जा के प्रयोग से बिजली उत्पादन के पारम्परिक तरीकों के विकल्प के रूप में साफ़ और स्वच्छ ऊर्जा को अपनाते हुए पर्यावरण को सुरक्षित रखने में सहायक होगा, जिससे राज्य के बिजली सैक्टर को डीकार्बोनाइज़ करने में मदद मिलेगी। सोलर पी.वी. के अनेकों लाभों के स्वरूप यह अक्षय ऊर्जा का सबसे पसन्दीदा स्रोत बन गया है।