रोहतक: बॉन्ड पॉलिसी का विरोध कर रहे MBBS के छात्रों को CM ने बातचीत के लिए बुलाया चंडीगढ़

Spread the News

रोहतक: बॉन्ड पॉलिसी का विरोध कर रहे हैं एमबीबीएस के छात्रों को आखिर 25 दिन बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बातचीत के लिए बुला ही लिया। मुख्यमंत्री से बात करने के लिए रोहतक पीजीआईएमएस लगभग 15 छात्र प्रतिनिधियों का एक दल चंडीगढ़ के लिए रवाना हुआ और उन्हें पूरी उम्मीद है कि आज कुछ समाधान हो सकता है। वहीं हॉस्टल खाली करने के पीजीआई प्रशासन के नोटिस पर छात्र बोले ऐसी धमकियों से हम डरने वाले नहीं हैं और अब तो जीत कर ही है लड़ाई खत्म होगी।

25 दिन से बॉन्ड पॉलिसी का विरोध कर रहे एमबीबीएस छात्र यह मांग कर रहे थे कि मुख्यमंत्री चरणों की मुलाकात कराई जाए। आखिर उन्हें सरकार की तरफ से न्यौता मिला है और बातचीत के लिए उन्हें चंडीगढ़ बुलाया गया है। जिसके चलते रोहतक पीजीआइएमएस से लगभग 15 छात्रों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मुलाकात करने के लिए चंडीगढ़ रवाना हुआ है। इस मुलाकात से उन्हें कुछ समाधान निकलने की उम्मीद है।

रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के प्रेसिडेंट अंकित गुलिया व एमबीबीएस छात्रों की प्रतिनिधि डॉक्टर प्रिया कौशिक ने बताया की आज वे अपनी मांगे मुख्यमंत्री के सामने रखेंगे और उन्हें पूरी उम्मीद है कि आज कोई समाधान निकल सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि रोहतक पीजीआई प्रशासन ने जो हॉस्टल खाली करने का नोटिस एमबीबीएस छात्रों को दिया है उससे डरने वाले नहीं है। अब तो यह लड़ाई जीतने के बाद ही बंद होगी।