‘भारत गौरव’ ट्रेन को नहीं मिल रहे पर्याप्त यात्री, किराया हो सकता है 30% तक कम

नई दिल्ली: यात्रियों की कमी से प्रभावित ‘भारत गौरव’ ट्रेन के किराए में 20-30 प्रतिशत तक की कटौती की जा सकती है। हालांकि अभी इस बारे में अंतिम निर्णय किया जाना बाकी है। सूत्रों के अनुसार भारतीय रेलवे खान-पान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) को इन ट्रेनों के उच्च किराए की वजह से कम-से-कम 2 विशेष पर्यटन पैकेज रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। रेलवे की तरफ से आईआरसीटीसी को इस विशेष ट्रेन का किराया कम करने के लिए मंजूरी सेवा शुरू होने के महज एक साल बाद आई है। आईआरसीटीसी अभी तक स्वदेश दर्शन योजना की रामायण सर्किट पर इस ट्रेन की सिर्फ एक सेवा संचालित करने में सफल रही है। भारत गौरव पर्यटन ट्रेन में 18 दिनों के पैकेज के लिए एसी-तृतीय श्रेणी का किराया 62,000 रुपए है।

आईआरसीटीसी लेगी अंतिम फैसला

सूत्रों के मुताबिक, भारत गौरव ट्रेन को बेहतर गुणवत्ता वाले कोच और व्यावहारिक पर्यटन पैकेजों की मदद से घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के प्रयासों के तहत शुरू किया गया था लेकिन बेहद ऊंचे किराए ने इसे खास वर्ग तक सीमित ‘लग्जरी ब्रांड’ ही बनाकर रख दिया। सूत्रों ने कहा, स्लीपर और एसी-तृतीय श्रेणी के किराए को 20-30 प्रतिशत सस्ता करने की मंजूरी दी गई है। आईआरसीटीसी जल्द ही इस पर अंतिम फैसला लेगी। किराए में कमसे-कम 20-30 प्रतिशत की कटौती की जाएगी। इसके बाद पर्यटन प्रबंधक इसकी घोषणा करेंगे।