अच्छे पड़ोसियों की यह जोड़ी नए युग में आधुनिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम करेगी

28 नवंबर की दोपहर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने चीन की राजकीय यात्रा पर आए मंगोलियाई राष्ट्रपति उखनागिन खुरेलसुह के साथ वार्ता की। दोनों पक्ष आधुनिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए हाथ मिलाने पर सहमत हुए और नए युग में दोनों देशों के बीच साझे भाग्य वाले समुदाय के सहनिर्माण पर महत्वपूर्ण सहमति पर पहुंचे। वार्ता के बाद दोनों देशों ने एक संयुक्त बयान जारी कर यह सकारात्मक संकेत दिया कि द्विपक्षीय संबंध एक नए चरण में प्रवेश कर चुके हैं और एक नए स्तर पर पहुंच गए हैं।

खुरेलसुह चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 20वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद चीन आए अहम पड़ोसी देश के नेता हैं। साथ ही यह पिछले साल उनके राष्ट्रपति बनने के बाद पहली चीन यात्रा भी है। चीन और मंगोलिया के बीच लगभग 4700 किलोमीटर की “सबसे लंबी भूमि सीमा” है। कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद मंगोलिया ने चीन के महामारी रोकथाम कार्य का समर्थन करने के लिए 30 हजार भेड़ें दान कीं। जल्द ही मंगोलिया को भी चीन से बदले में चाय मिली। बाद में मंगोलिया में महामारी के प्रकोप के बाद चीन ने मंगोलिया के साथ महामारी विरोधी अनुभव साझा किया और महामारी विरोधी सामग्री दान की। आपदा में एक दोस्त सच्चाई देखता है। इससे दोनों के अच्छे पड़ोसी, अच्छे दोस्त और अच्छे साथी देखे जाते हैं।

राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने जोर देकर कहा कि चीन मंगोलिया के साथ मिलकर एक दूसरे की स्वतंत्रता, संप्रभुता और प्रादेशिक अखंडता का सम्मान करने, एक दूसरे के विकास पथ के विकल्प का सम्मान करने और एक दूसरे के मूल हितों और प्रमुख चिंताओं से जुड़े मुद्दों पर एक दूसरे का समर्थन करने को तैयार है। राष्ट्रपति खुरेलसुह ने दोहराया कि मंगोलिया दृढ़ता से एक-चीन नीति का पालन करता है, और इस बात पर जोर दिया कि मंगोलिया चीन की वैश्विक विकास पहल और वैश्विक सुरक्षा पहल का पूरी तरह से समर्थन करता है। यह राजनीतिक आपसी विश्वास दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों के व्यावहारिक सहयोग की ठोस नींव तैयार करेगा। वार्ता में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा कि बढ़ती अस्थिरता और अनिश्चितता के साथ एक अंतरराष्ट्रीय माहौल के सामने चीन मंगोलिया के साथ मिलकर काम करने को तैयार है, ताकि चीन-मंगोलिया व्यापक रणनीतिक साझेदारी के दीर्घकालिक विकास को आगे बढ़ाया जा सके और दोनों देशों के लोगों को बेहतर लाभ मिल सके।

दोनों देशों द्वारा जारी संयुक्त बयान के अनुसार, दोनों पक्षों ने16 सहयोग दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए और आपसी संयोजकता और ऊर्जा क्षेत्र को भविष्य के सहयोग की प्राथमिकता तय की। चीन में मंगोलिया के राजदूत तुवशीन बद्राल ने कहा कि मंगोलिया और चीन के बीच सहयोग को मजबूत करना दोनों पक्षों के साझा हित में है मंगोलिया में एक लोकप्रिय कहावत है, “पड़ोसी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं और एक साझा नियति साझा करते हैं। खाका तैयार किया गया है। चीन और मंगोलिया, जो अच्छे पड़ोसी, अच्छे दोस्त और अच्छे साथी हैं, हाथ में हाथ डाले आधुनिकीकरण की राह पर आगे बढ़ेंगे, और निश्चित रूप से नए युग में सामान्य विकास और समृद्धि प्राप्त कर सकेंगे।

वर्तमान में दुनिया को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। विकास अभी भी सभी समस्याओं को हल करने की स्वर्ण चाबी है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 20वीं राष्ट्रीय कांग्रेस ने एक स्पष्ट संकेत दिया कि चीनी शैली के आधुनिकीकरण से न केवल चीन समृद्धि और विकास को साकार करेगा, बल्कि उसके पड़ोसियों और दुनिया को भी लाभ दे सकेगा।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)