19 दिसंबर को दिल्ली में होगी किसान गर्जना रैली, 1200 हिमाचल के किसान सहित 2 लाख लोग रैली में होंगे शामिल

Spread the News

शिमला : दिल्ली रामलीला मैदान में 19 दिसंबर को किसान गर्जना रैली होगी। इस रैली में 2 लाख किसान भाग लेंगे, जबकि 1200 किसान हिमाचल प्रदेश के शामिल होंगे। इस प्रदर्शन के बाद हिमाचल प्रदेश के किसान अपनी मांगो को लेकर रणनीति बनाएंगे।

भारतीय किसान संघ के हिमाचल प्रदेश महामंत्री सुरेश ठाकुर ने बताया कि उद्योगों की तरह कृषि में भी लाभकारी मूल्य की गणना होनी चाहिए। फसल की लागत नकालते समय भूमि का किराया, किसान का प्रबन्धन परिवार के सदस्य की मजदूरी, कृषि यंत्रों का किराया भी शमिल नही होता है। उसके बावजूद सरकार द्वारा किसान को लाभकारी मूल्य की मूलभूत आवश्यकता सर्वथा नजर अन्दाज़ की गई। भारतीय किसान संघ लगभग 40 वर्षो से लाभकारी मूल्य की माँग कर रहा है। किसान संघ, किसानों को आत्म-निर्भर बनाने के लिए सरकार के समक्ष अपनी मांगों को रख रहा है।

1- लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य दिया जाए।
2- कृषि यंत्रो व उर्वरकों, कीट नाशक कृषि के उपयोग आने वाली वस्तुओं को GST के दायरे बाहिर रखा जाये।
3- किसान समान निधि बढाई जाये।
4- केंद्र सरकार सभी प्रकार के GIM, BT व GM सरसो को अनुमति देने के निर्णय को तुरंत वापिस ले।
5- हिमालय क्षेत्रों की भौगोलिक परिस्थिति के अनुसार कृषि निति बने।