शिमला में स्वच्छ भारत अभियान की धज्जियां उड़ा रहे लोग

हिमाचल की राजधानी शिमला अपनी खूबसूरती के लिए विश्व भर में जानी जाती है. यहां की खूबसूरती देखने के लिए लोग दूर-दूर से शिमला पहुंचते हैं, लेकिन यहां कुछ लोग ही शिमला की खूबसूरती पर ग्रहण लगाते नजर आ रहे हैं. स्वच्छता के लिए पहचान रखने वाले रिज मैदान और मॉलरोड पर लोग खाने के बाद कूड़ा डस्टबिन तक डालने की भी जहमत नहीं उठाते. हद तो तब हो जाती है, जब लोग रिज मैदान पर लगी प्रतिमाओं के नजदीक खाने के लिए बैठते हैं और यहीं कूड़ा छोड़ जाते हैं. रिज मैदान में लगी प्रतिमाओं के साथ अलग-अलग स्थानों पर चिप्स के रैपर और प्लास्टिक की बोतल वातावरण को खराब कर रही हैं। शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान और मॉलरोड पर कूड़ा फेंकने जमा जुर्माने का भी प्रावधान है. इसके साथ ही रिज और मॉल-रोड में थूकने पर भी जुर्माना लगाया जाता है. बावजूद इसके लोगों को न तो नियम कानून का डर है और न ही नैतिक मूल्यों की चिंता. लोग एक-दूसरे को तो स्वच्छता का ज्ञान देते नजर आते हैं, लेकिन बात जब खुद पर आती है तब पढ़े-लिखे समाज के लोग इस तरह की हरकत करते नजर आते हैं।