अप्रैल से 22 नवंबर तक स्टाम्प बिक्री और रजिस्ट्रशन से पंजाब की आय में हुई रिकॉर्ड 21% वृद्धि: मंत्री ब्रम शंकर जिंपा

चंडीगढ़ : अप्रैल-नवंबर 2021 की तुलना में अप्रैल से नवंबर 2022 तक स्टाम्प पेपरों की बिक्री और भूमि-संपत्तियों के रजिस्ट्रेशन से राज्य के खजाने में 21 प्रतिशत अधिक आय जमा हुई है। इस बात की जानकारी पंजाब के राजस्व मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों को पारदर्शी, झंझट मुक्त और भ्रष्टाचार मुक्त सेवाएं मुहैया कराना मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली सरकार का मुख्य लक्ष्य है और इससे राज्य का राजस्व लगातार बढ़ रहा है।

राजस्व मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि 1 अप्रैल से 30 नवंबर 2022 तक 2525.72 करोड़ की आय कोषागार में ”स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन” मद में जमा करवाई गई है। उन्होंने कहा कि यह पिछले साल के अप्रैल से नवंबर की तुलना में 21 प्रतिशत अधिक है। साल 2021 में यह कमाई 2088.60 करोड़ रुपए थी। जिंपा ने कहा कि नवंबर 2022 के महीने में हमने नवंबर 2021 की तुलना में स्टाम्प पेपर की बिक्री और पंजीकरण से राजस्व में 44 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। नवंबर 2022 में स्टाम्प एवं निबंधन के तहत 376.78 करोड़ की आय दर्ज की गई है, जबकि नवंबर 2021 में यह 260.87 करोड़ रुपये थी।