चंडीगढ़ में महिलाओं और युवतियों की सुरक्षा चिंताजनक: महिला कांग्रेस अध्यक्ष दीपा दुबे

Spread the News

चंडीगढ़: शहर में महिलाओं की सुरक्षा दिन प्रतिदिन चिंताजनक होती जा रही है। चंडीगढ़ में महिलाओं के साथ चेन स्नैचिंग, इव टीजिंग, और महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा के मामले सामने आ रहे हैं। दीपा ने कहा कि शर्म आती है यह कहते हुए कि यह हाल स्मार्ट सिटी चंडीगढ़ की महिलाओं का है। भाजपा शासित सरकार वैसे तो बेटियों और महिलाओं की सुरक्षा की बात करती है। लेकिन धरातल पर कुछ भी नहीं है ना तो भाजपा सरकार को महिलाओं या युवतियों से कोई मतलब है सिर्फ चुनाव के समय बड़े-बड़े लुभावने वादे तो जरूर करते हैं लेकिन धरातल पर कुछ भी नहीं है।

दीपा दुबे ने कहा कि चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर महिला है चंडीगढ़ की मेयर भी महिला है और भाजपा की 3 महिला पार्षद भी है और भाजपा की महिला मोर्चा के प्रधान सुनीता धवन का तो कुछ पता ही नहीं कि वह शहर में है भी या नहीं। दीपा ने पूछा कि क्या इनको चंडीगढ़ की महिलाओं और शहर की युक्तियों की सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है? सिर्फ कहने के लिए ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ या महिलाओं की सुरक्षा का स्लोगन चुनावों में वोट लेने के लिए रखा है।

चंडीगढ़ महिला कांग्रेस की अध्यक्ष दीपा दुबे ने कहा की भाजपा की महिला मोर्चा सिर्फ एक कहने के लिए मोर्चा खोला हुआ है लेकिन वह चंडीगढ़ की महिलाओं की एक भी आवाज नहीं उठाने का जिम्मा लेती। क्योंकी उनकी अध्यक्ष को पता है कि महिला की सुनवाई भारतीय जनता पार्टी में बिल्कुल भी नहीं है। क्योंकि महिलाओं का सम्मान करना ना तो भारतीय जनता पार्टी जानती है और ना ही उनके नेता। दीपा दुबे ने प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित से अपील की है की चंडीगढ़ में महिलाओं और युवतियों की सुरक्षा के लिया कड़े कदम उठाया जाए जिससे चंडीगढ़ में महिलाओं की सुरक्षा को शहर में सुनिश्चित किया जा सके।