थाइवान को अमेरिकी सैन्य बिक्री पर चीनी विदेश मंत्रालय का जवाब

थाइवान को अमेरिकी सैन्य बिक्री को लेकर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता माओ निंग ने गुरुवार को आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि चीन इससे पूरी तरह असंतुष्ट है और इसका कड़ा विरोध करता है। चीन अपनी संप्रभुता और सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी रक्षा और सुरक्षा ब्यूरो ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि अमेरिकी विदेश विभाग ने थाइवान को 40 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक सैन्य उपकरणों की बिक्री को मंजूरी दे दी है।

चीनी प्रवक्ता माओ निंग ने कहा कि अमेरिका ने चीन के ताइवान क्षेत्र को एक चीन सिद्धांत और दोनों देशों के तीन संयुक्त विज्ञप्ति, विशेष रूप से 17 अगस्त की विज्ञप्ति के खिलाफ हथियार बेचकर ताइवान जलडमरूमध्य की शांति और स्थिरता को खुले तौर पर बर्बाद किया है और तथाकथित थाइवानी स्वतंत्रता का समर्थन करने वाली अलगाववादी तत्वों को गलत संकेत दिया है।  उन्होंने यह भी कहा कि चीन अमेरिका को एक चीन सिद्धांत और तीन संयुक्त विज्ञप्तियों का पालन कर तथाकथित थाइवानी स्वतंत्रता का समर्थन न करने वाले अमेरिकी नेता का वादा लागू कर थाइवान को हथियार बेचना तथा सैन्य संपर्क बंद करने, थाइवान जलडमरूमध्य में नया तनाव न पैदा करने और तथाकथित थाइवान से चीन को नियंत्रित न करने का अनुरोध करता है, ताकि अमेरिका गलत और खतरनाक रास्ते पर बहुत दूर न चला जाए। (साभार___चाइना मीडिया ग्रुप,पेइचिंग)