तरनतारन: सरहाली पुलिस स्टेशन पहुंचे DGP गौरव यादव, बोले- RPG का इस्तेमाल कर हाईवे से दागा गया ग्रेनेड

Spread the News

तरनतारन: तरनतारन के सरहाली पुलिस स्टेशन पर हुए रॉकेट लॉन्चर हमले के बाद पूरे इलाके में दहश्त का माहौल है। मौके पर पुलिस फोर्स एवं मिलट्री मौजूद हैं। वहीं, डीजीपी गौरव यादव ने घटनास्थल पहुंच हालातों का जायजा लिया। इस दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत में गौरव यादव ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि बीती रात करीब 11 बजकर 22 मिनट पर RPG का इस्तेमाल कर हाईवे से ग्रेनेड दागा गया। यह सरहाली थाने के सुविधा केंद्र से टकराया। UAPA के तहत FIR दर्ज कर जांच की जा रही है।

लांचर को रिकवर कर लिया गया : गौरव यादव

गौरव यादव ने आगे कहा कि लांचर को रिकवर कर दिया गया है। यह मिलिट्री ग्रेड हार्डवेयर है जो बॉर्डर के जरिए भेजा होने की संभावना है। इसमें कोई शक नहीं है कि इसमें पाकिस्तान की साजिश है।

दुश्मन देश बौखलाया हुआ : गौरव यादव

डीजीपी गौरव यादव ने आगे कहा कि इस वर्ष करीब 200 ड्रोन क्रॉसिंग हो चुके हैं। पिछले एक महीने में कई ड्रोन को रोका गया, हेरोइन और हथियार ज़ब्त किए गए। मेरा मानना है कि दुश्मन देश बौखलाया हुआ है और ध्यान भटकाने के लिए रात में कायरतापूर्ण हमला कर रहा है।

RPG पर लिखा मिला था 0-4-86 PK

RPG पाकिस्तान से आया था। खबरों की मानें तो RPG पर 0-4-86 PK लिखा हुआ है जिसके बाद यह आशंका जताई जा रही है कि यह पाकिस्तान से आया हो सकता है।

RPG नहीं फटा लेकिन टूटे शीशे

पुलिस अधिकारियों के अनुसार हमले में RPG तो नहीं फटा लेकिन थाने के एक हिस्से में बने सांझ केंद्र के शीशे टूट गए। जहां से शीशा टूटा है उस जगह को फोरेंसिक जांच के लिए सील कर दिया गया है।

आंतकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने ली जिम्मेदारी

इस हमले की आंतकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने जिम्मेदारी ली है। खबरों की मानें तो पन्नू ने एक वॉयस नोट के जरिए इस हमले की जिम्मेदारी ली है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पन्नू का कहना है कि यह हमला बीते दिन हुए जालंधर के लतीफपुरा में कार्रवाई का बदला है। पन्नू ने कहा कि 1947 में पाकिस्तान से आकर बसे परिवारों को पंजाब सरकार ने बेघर किया है। पंजाब में हर घर में रॉकेट लांचर व बम पहुंच चुके हैं। पंजाब को भारत की हकूमत से आजादी दिलाएंगे। बता दें कि इससे पहले 6 मई को मोहाली में भी आरपीजी हमला किया गया था।