महिला खिलाडिय़ों पर यौन शोषण के आरोप बेहद गंभीर हैं: अभय सिंह चौटाला

Spread the News

चंडीगढ़: भारतीय ओलंपिक संघ के पूर्व अध्यक्ष एवं इनेलो के विधायक अभय सिंह चौटाला ने भारतीय कुश्ती संघ के प्रधान ब्रजभूषण सिंह पर महिला खिलाडिय़ों के साथ यौन शोषण और प्रताडि़त किए जाने के विरोध में जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पहलवान खिलाडिय़ों का समर्थन किया और कहा कि महिला खिलाडिय़ों को प्रताडि़त किया जाना देश के लिए मेडल लाने वाली महिला खिलाडिय़ों के प्रति घिनौनी मानसिकता है। महिला खिलाडिय़ों पर यौन शोषण के आरोप बेहद गंभीर हैं। प्रदेश की बेटियां अपने उपर हुए शोषण को लेकर न्याय की गुहार कर रही हैं, लेकिन भाजपा की राज्य और केंद्र सरकारें पहले हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह द्वारा जूनियर कोच को प्रताडि़त और शोषण करने पर और अब भारतीय कुश्ती संघ के प्रधान ब्रजभूषण सिंह जो भाजपा के सांसद हैं, उनके द्वारा हरियाणा की महिला पहलवान खिलाडिय़ों पर किए गए यौन शोषण और अत्याचारों पर न केवल चुप हैं बल्कि दोनों को बचाने में जुटी हैं।

अभय चौटाला ने कहा कि हरियाणा प्रदेश पूरे देश में सबसे ज्यादा खिलाड़ी देता है जो कड़ी मेहनत कर देश के लिए मेडल लाते हैं। अगर हरियाणा की महिला खिलाडिय़ों के साथ ऐसे अत्याचार होंगे तो अन्य राज्यों की खिलाडिय़ों का भी हौंसला गिरेगा। प्रधानमंत्री ने इन्हीं महिला खिलाडिय़ों को सम्मानित किया था और अब यही महिला खिलाड़ी पहलवान जंतर-मंतर पर उनके साथ हुए अत्याचारों के विरोध में धरने पर बैठे हैं और प्रधानमंत्री से न्याय की गुहार लगा रही हैं और भाजपा सरकार गूंगी और बहरी बन कर बैठी है।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि कब तक भाजपा सरकार में महिलाओं का शोषण होता रहेगा, अगर ऐसा ही चलता रहा तो अभिभावक अपनी बेटियों को खिलाड़ी बनाने की सोचेंगे भी नहीं। प्रधानमंत्री द्वारा ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा दिए जाने की हवा पूरी तरह से निकल चुकी है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि भारतीय कुश्ती संघ के प्रधान ब्रजभूषण सिंह और हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह को तुरंत बर्खास्त कर उन्हें गिरफ्तार किया जाए। साथ ही दोनों मामलों की जांच सीबीआई से करवाई जाए ताकि प्रदेश की बेटियों को न्याय दिलवाया जा सके।