प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में रोजगार मेले के तीसरे चरण में बांटे गए 71 हजार नियुक्ति पत्र

Spread the News

नई दिल्ली/भोपाल: भारत सरकार द्वारा प्रारंभ देशव्यापी रोज़गार मेले के तीसरे चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 45 स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में 71 हजार युवाओं को सरकारी विभागों व संगठनों में नौकरी के लिए नियुक्ति पत्र प्रदान किए गए। भोपाल में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के आतिथ्य में रोजगार मेला हुआ। रोजगार मेला रोजगार सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में एक कदम है। रोजगार मेला रोजगार सृजन में एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगा और युवाओं को उनके सशक्तिकरण और राष्ट्रीय विकास में भागीदारी के लिए सार्थक अवसर प्रदान करेगा।

वर्चुअल जुड़े प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार, एनडीए व भाजपा शासित राज्यों में भी लगातार रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा है। निरंतर हो रहे ये मेले हमारी सरकार की पहचान बन गए हैं। ये दिखाता है कि किस तरह हमारी सरकार जो संकल्प लेती है, उसे सिद्ध करके दिखाती है। मोदी ने कहा कि भर्ती प्रक्रिया में व्यापक बदलाव हुआ है। केंद्रीय सेवाओं की भर्ती प्रक्रिया पहले के मुकाबले ज्यादा कारगर व समयबद्ध हुई है। आज भर्ती प्रक्रिया में जो पारदर्शिता व रफ्तार हैं, वो सरकार के हर काम में दिख रहा है। पारदर्शी तरीके से भर्ती व पदोन्नति युवाओं में भरोसा जगाती है। ये पारदर्शिता बेहतर तरीके से उन्हें प्रतियोगिता में उतरने के लिए प्रेरित करती है। हमारी सरकार इसी दिशा में निरंतर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि ये साल 2023 का पहला रोजगार मेला है। इस साल की शुरूआत उज्जवल भविष्य की नई उम्मीदों के साथ हुई है। प्रधानमंत्री ने सभी युवाओं व उनके परिवारों को बधाई देते हुए कहा कि आने वाले दिनों में लाखों और परिवारों को सरकारी नौकरी में नियुक्ति मिलने वाली है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि देश में ढांचागत विकास के समग्र दृष्टिकोण के साथ 8 साल में रोजगार के लाखों अवसर सृजित किए गए हैं। उन्होंने इंफ्रास्ट्रक्चर में 100 लाख करोड़ रु. के निवेश का उदाहरण देते हुए जोर दिया कि कैसे एक नई बनी सड़क रोजगार के अवसर पैदा करती है। प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया कि नए बाजार नई सड़कों या रेलवे लाइनों की परिधि के साथ उभरते हैं, पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ-साथ खेत से खाद्यान्न का परिवहन बहुत आसान बनाते हैं। हर गांव में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी प्रदान करने की भारत-नेट परियोजना का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने इसके होने से रोजगार के नए अवसरों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इसने गांवों में ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करके उद्यमिता का एक नया क्षेत्र खोला है। मोदी ने टियर 2 और टियर 3 शहरों में फलते-फूलते स्टार्टअप परिदृश्य का उल्लेख करते हु कहा कि इस सफलता ने दुनिया में युवाओं के लिए एक नई पहचान बनाई है। नव-नियुक्त युवाओं से श्री मोदी ने कहा कि आपको सीखना होगा और देश को आगे ले जाने के लिए खुद को सक्षम बनाना होगा।