जयपुर के एक एक व्यक्ति ने किया महादान, चार लोगों को अंगदान कर दिया जीवनदान

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अंगदान को सभी दानों में श्रेष्ठ बताते हुए कहा है कि इसलिए इसे महादान कहते हैं और एक व्यक्ति के अंगदान से गंभीर बीमारियों से जूझ रहे मरीजों को नया जीवन मिलता है।

गहलोत ने सीकर के राधाकिशनपुरा के 22 वर्षीय अशोक सैनी के मरणोंपरांत अंगदान से चार लोगों को मिले नए जीवन को प्रेरणादायक बताते हुए आज कहा कि परिवार से एक व्यक्ति के चले जाने का दु:ख असहनीय होता है, लेकिन उसके अंग से मिलने वाले नए जीवन से वह स्वयं और अपने परिवार को गौरवान्तिव बनाता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा निरोगी राजस्थान की संकल्पना को साकार करने के साथ अंगदान-महादान के लिए भी आमजन को जागरुक किया जा रहा है।

सड़क दुर्घटना में घायल हुए अशोक को चिकित्सकों द्वारा ब्रेनडेड घोषित किए जाने के बाद उसके परिवारजनों ने अंगदान करके दूसरों को जीवनदान देने का निर्णय लिया। चिकित्सक दल द्वारा अशोक के मरणोपरांत उसके हार्ट, लीवर एवं दोनों किडनियों को अन्य लोगों में प्रत्यारोपित करने से चार लोगों को नई जिंदगी मिली है। इन चार लोंगों में से तीन लोगों में मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, आरजीएचएस तथा मुख्यमंत्री नि:शुल्क निरोगी राजस्थान योजना के माध्यम से नि:शुल्क अंग प्रत्यारोपण किया गया है।

सीकर जिला कलेक्टर डॉ. अमित यादव ने बताया कि अशोक सैनी को पिछले दिनों सड़क दुर्घटना में घायल होने पर सीकर के कल्याण अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उसके बाद मणिपाल अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। चिकित्सक दल द्वारा अशोक सैनी को ब्रेन डेड घोषित किये जाने पर उनके भाई चन्द्रप्रकाश सैनी, ?बहन संजू चरणप्यारी, ¨पकी एवं उनकी माता बनारसी देवी ने अंगदान का निर्णय लेते हुए इस अपनी सहमति प्रदान की।

अंगदान से प्राप्त अशोक की एक किडनी को मणिपाल अस्पताल में भर्ती नीलम अग्रवाल (29 वर्ष) निवासी विद्याधर नगर जयपुर तथा दूसरी किडनी को एसएमएस में भर्ती रमेश कुमारी (37 वर्ष) निवासी श्यामपुरा, बुहाना, झुंझुंनू में प्रत्यारोपित किया गया। इसी के साथ लीवर को मणिपाल अस्पताल में भर्ती राजेन्द्र सिंह चौहान (51 वर्ष) निवासी सीकर तथा हार्ट एसएमएस अस्पताल में भर्ती कानाराम (28 वर्ष) निवासी वार्ड नं 25 सुजानगढ़ में प्रत्यारोपित किया गया।

जिला कलक्टर एवं अध्यक्ष इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी सीकर डॉ अमित यादव द्वारा देहदान के प्रति जागरुकता लाने तथा अशोक सैनी के परिवार द्वारा विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भी मानव सेवार्थ लिए गये अंगदान के निर्णय की प्रशंसा करते हुए अशोक सैनी के परिवार को इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी की ओर से 51 हजार रुपये की सहायता तथा एक परिवार जन को इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी की आजीवन सदस्यता दिये जाने की घोषणा की गयी। इसके साथ ही जिला प्रशासन द्वारा गणतंत्र दिवस पर अशोक सैनी के परिवारजन को सम्मानित किये जाने का निर्णय भी लिया गया।

चिकित्सकों ने सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कानाराम के बीमार हृदय को निकालकर अशोक सैनी के अंगदान से प्राप्त हृदय का सफल प्रत्यारोपण किया। बांगड स्थित सीटीवीएस विभाग के ऑपरेशन थियेटर में लगभग छह घंटे चले जटिल ऑपरेशन को चिकित्सकों की टीम सफलतापूर्वक पूरा किया। कानाराम का हृदय प्रत्यारोपण मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पूर्णत: नि:शुल्क किया गया। इसी प्रकार राजेन्द्र सिंह चौहान के शरीर में अशोक सैनी के लीवर का सफल प्रत्यारोपण आरजीएचएस योजना के तहत नि:शुल्क किया गया। एसएमएस अस्पताल में ही भर्ती रमेश कुमारी का किडनी ट्रांसप्लांट मुख्यमंत्री नि:शुल्क निरोगी राजस्थान योजना के तहत नि:शुल्क किया गया। एसएमएस अस्पताल में यह पांचवा तथा मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत दूसरा सफल हृदय प्रत्यारोपण किया गया।