महिलाओं से छेड़छाड़ और प्रताड़ना के आरोपी BJP नेताओं को पद से बर्खास्त करे सरकार: डॉ. सुशील गुप्ता

Spread the News

अंबाला : बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार के मंत्री, सांसद और विधायक रेप के मामलों में लिप्त हैं। ये दुर्भाग्य है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार या तो ऐसे मामलों में चुप रहती है या बचाव करती है। ये बात आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी और राज्यसभा सांसद डॉ. सुशील गुप्ता ने कही। वे शनिवार को अंबाला कैंट के पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा में भी जूनियर कोच से छेड़छाड़ के आरोपी का सामना कर रहे मंत्री संदीप सिंह को अभी तक भी पद से नहीं हटाया गया।

प्रदेश प्रभारी डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री खट्टर संदीप सिंह को बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ताजा कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के मामले में भी कोई एफआईआर नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि पहलवानों को उनके खिलाफ कार्रवाई करवाने के लिए जंतर मंतर पर आना पड़ा।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय खेलमंत्री ने चार सप्ताह का समय देते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया, लेकिन कुश्ती संघ के अध्यक्ष पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन के खिलाफ भी 2018 में एक महिला ने रेप का आरोप लगाया था, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई।

उन्होंने कहा दो दिन पहले उत्तरप्रदेश के सोनभद्र जिले की दुद्धी विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक रामदुलार के खिलाफ भी नाबालिग से रेप मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के कोने कोने में महिलाओं को भाजपा के मंत्री, सांसद और विधायकों से खतरा है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ये मांग करती है कि सभी आरोपियों को पद से बर्खास्त कर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे।

वहीं डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि हरियाणा में गृह मंत्री के जिले में महिलाएं जेलों में भी सुरक्षित नहीं हैं।जेल में भी महिला को गोली लग जाती है तो सड़क पर महिला सुरक्षा की उम्मीद करना बेमानी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अपराध और युवाओं में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। 2024 में जनता बीजेपी को सबक सिखाने का काम करेगी। प्रदेश में आने वाला समय आम आदमी पार्टी का है।

इस अवसर पर उतरी जोन की संयोजक चित्रा सरवारा, जिलाध्यक्ष गुरचरण सिंह, गुलजार सिंह, सरीता शर्मा, प्रमोद अग्रवाल, मलकियत सिंह, अविनाश, सुरेश त्रेहन, गुरदेव गरनाला, गुरजीत प्रेमी, राजा दानीपुर, विजय गुम्बर, गगन डांग, से दिलबाग सिंह, जय धीमान, कुशल कटोच, सुधीर राणा, विनोद धीमान, रोबिन खोड़ा, पवन बांगा, गौरव मंडान, राजन शास्त्री और चेतन शर्मा मुख्य रूप से मौजूद रहे।