कोर्ट केस में मदद के बदले 7 लाख की रिश्वत लेने के आरोप में सब इंस्पेक्टर गिरफ्तार

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देशानुसार राज्य में भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के दौरान एक पुलिस इंस्पेक्टर बलजीत सिंह को सात लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए विजिलेंस के प्रवक्ता ने बताया कि तरनतारन में ट्रैफिक प्रभारी के पद पर तैनात इंस्पेक्टर बलजीत सिंह (नंबर 111/बीआर तरनतारन) को मॉडल टाउन खरड़ निवासी शरणजीत सिंह जिम्मी की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया है। यह आरोपी पुलिसकर्मी पूर्व में एनडीपीएस मामले में निलंबित हो चुका है।

आगे जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता ने विजिलेंस से संपर्क किया और आरोप लगाया कि उक्त पुलिसकर्मी अपने पिता और मां को अदालत में पेश होने से छूट देने के बदले में 10,00,000 लाख रुपये की रिश्वत मांग रहा है। उन्होंने आगे बताया कि आरोपी पुलिसकर्मी ने रिश्वत की यह राशि सात लाख रुपये और तीन लाख रुपये की दो किश्तों में देने की मांग की है।

प्रवक्ता ने बताया कि इस शिकायत की पुष्टि के बाद विजिलेंस की टीम ने जाल बिछाया और उक्त पुलिसकर्मी को पहली किस्त के रूप में 7 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए दो सरकारी गवाहों की मौजूदगी में रंगे हाथों पकड़ा गया। उन्होंने कहा कि उक्त आरोपी इंस्पेक्टर के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।