बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर का दरबार कभी भी हो सकता है बंद: आचार्य प्रमोद

Spread the News

नई दिल्ली: बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को लेकर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन ने निशाना साधा है और कहा है कि दरबार कभी भी बंद हो सकता है। प्रमोद कृष्णन ने शनिवार ट्वीट कर कहा, बागेश्वर धाम वाले ‘महापुरुष’ को स्मरण रखना चाहिए कि कृपा का ‘धंधा’ थोड़ा ‘रिस्की’ है, निर्मल बाबा को भी मीडिया बड़ा दिखाता था।

दरअसल बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर इन दिनों विवादों में फंसे हुए हैं। धीरेंद्र शास्त्री पर अंधविश्वास को फैलाने और बढ़ावा देने का आरोप लगा है। उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी हो चुकी। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा था, “भारत में चादर चढ़ाना और कैंडल जलाना तो आस्था है, लेकिन अर्जी का नारियल बांधना अंधविश्वास है। पता नहीं लोग इतना दोगलापन कहां से लाते हैं। ” उन्होंने कहा था, “देश में हिंदू बाबाओं के खिलाफ खास अभियान चलाया जा रहा है। इसी के चलते उन्हें भी निशाना बनाया जा रहा है, लेकिन वे इससे नहीं डरते।”

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के नागपुर में श्रीराम चरित्र-चर्चा का आयोजन हुआ था। तब वहां धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का दरबार लगा था। इस दौरान अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर जादू-टोने और अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था। धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर दिव्य दरबार और प्रेत दरबार की आड़ में जादू-टोना को बढ़ावा दिए जाने का आरोप था। इसके बाद से विवाद जारी है।