अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी के निदेशक: हरित ऊर्जा प्रौद्योगिकी के विकास में चीन एक महत्वपूर्ण शक्ति है

Spread the News

अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी के निदेशक फतिह बिरोल ने विश्व आर्थिक मंच के वार्षिक सम्मेलन के दौरान शिनहुआ समाचार एजेंसी को दिये विशेष साक्षात्कार में कहा कि चीन हरित ऊर्जा प्रौद्योगिकी के विकास में एक महत्वपूर्ण शक्ति है। बिरोल ने दावोस में संवाददाताओं से कहा कि चीन स्वच्छ ऊर्जा प्रौद्योगिकी का महत्वपूर्ण प्रवर्तक है और सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा और इलेक्ट्रिक वाहनों जैसे क्षेत्रों में दुनिया में अग्रणी है।

अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी द्वारा पिछले साल दिसंबर में जारी “2022 नवीकरणीय ऊर्जा रिपोर्ट” के अनुसार चीन 2022 से 2027 तक दुनिया में नई नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता का लगभग आधा हिस्सा लेगा।  ऊर्जा कीमतों के रुझान की चर्चा करते हुए बिरोल ने कहा कि भू-राजनीतिक कारकों और वैश्विक ऊर्जा मांग में अनिश्चितताओं के कारण, 2023 “ऊर्जा बाजार के लिए बहुत कठिन वर्ष” होगा। अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी ने पहले भविष्यवाणी की थी कि वैश्विक कच्चे तेल के बाजार में 2023 की तीसरी तिमाही में भारी कमी आएगी। 

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)