पलवल में नारकोटिक्स विभाग की टीम ने कासगंज से एक स्मैक तस्कर किया गिरफ्तार

हरियाणा: पलवल जिले में तेजी से बढ़ रहे नशे को लेकर हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीम पूरी तरह से सजग है। नशा तस्करों पर लगाम कसने में टीम पूरी तरह से कामयाब होती नजर आ रही है। इसी कड़ी में हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की यूनिट के फरीदाबाद व पलवल के प्रभारी इंस्पेक्टर सतपाल सिंह की अगुवाई में ईएसआई कीमती लाल और विभाग के अन्य अधिकारियों ने यूपी के जिला कासगंज से एक स्मैक तस्कर गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की है। आरोपी की पहचान यूपी के जिला कासगंज निवासी रियाज अहमद पुत्र इशाक के रूप में हुई है। मामले की जानकारी देते हुए इंस्पेक्टर सतपाल सिंह ने कहा कि श्रीकांत जाधव आईपीएस अतिरिक्त महानिदेशक हरियाणा स्टेट नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के मार्गदर्शन में नशा तस्करों के खिलाफ एक विशेष अभियान चलाया गया है।

जिसके तहत उनकी टीम ने 18 जनवरी को पलवल की बसंत विहार कॉलोनी से तीन आरोपी मदन गोपाल निवासी कैलाश नगर, विशाल निवासी फिरोजपुर राजपूत और जितेंद्र निवासी वसंत विहार कॉलोनी को 38 लाख रुपये की 355 ग्राम स्मैक सहित गिरफ्तार किया था। यह स्मैक वह अल्टो कार में यूपी के जिला कासगंज के रहने वाले रियाज अहमद पुत्र इशाक से खरीद कर पलवल और आसपास के इलाके में सप्लाई के लिए लेकर आए थे। अल्टो कार को भी टीम ने अपने कब्जे में ले लिया है। टीम ने अब इस मामले में स्मैक तस्कर यूपी के जिला कासगंज के रहने वाले रियाज अहमद पुत्र इशाक को भी कासगंज से गिरफ्तार कर लिया है। उनका कहना है कि अब इस तस्कर को अदालत में पेश करके गहन पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा। रिमांड अवधि के दौरान आरोपी से यह भी पता लगाया जाएगा कि वह कब से स्मैक तस्करी का काम कर रहा है और कहां – कहां तक उसके तार जुड़े हुए हैं।

इससे पहले पकड़े गए तीन आरोपियों को रिमांड अवधि समाप्त होने पर अदालत में पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि श्रीकांत जाधव आईपीएस अतिरिक्त महानिदेशक हरियाणा स्टेट नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के मार्गदर्शन में पूरे प्रदेश में 12 टीमें काम कर रही हैं। जो कि लगातार नशा तस्करों की धरपकड़ में जुटी हुई है। उन्होंने लोगों से भी अपील करते हुए कहा है कि अगर उनके आसपास कोई नशा बेचने का कार्य करता है। तो वह इसकी सूचना उनकी टीम को या टोल फ्री नंबर पर दें। उनकी पहचान गुप्त रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार व हरियाणा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो हरियाणा टीम का मुख्य उद्देश्य यही है कि हरियाणा प्रदेश को नशा मुक्त बनाया जाए।