पिछले पांच वर्षों में तिब्बत का हाई-टेक अनुसंधान एवं विकास निवेश 4 अरब युआन से अधिक

हाल ही में 2023 तिब्बत विज्ञान और प्रौद्योगिकी कार्य सम्मेलन ल्हासा में वीडियो के माध्यम से आयोजित हुआ। सम्मेलन में 2022 और पिछले पांच वर्षों में पूरे प्रदेश के वैज्ञानिक और तकनीकी कार्यों की समीक्षा की गयी और 2023 में वैज्ञानिक और तकनीकी कार्यों के प्रमुख कार्यों की तैनाती की गई। 2022 में, तिब्बत ने नवाचार प्रणाली की दक्षता के सुधार पर जोर दिया, नवाचार नीति पर्यावरण का अनुकूलन जारी रखा, धीरे-धीरे नवाचार निवेश चैनलों का विस्तार किया, और पूरे प्रदेश में वैज्ञानिक और तकनीकी नवाचार में नई प्रगति को बढ़ावा दिया। तिब्बत ने सुरक्षित तिब्बत, पारिस्थितिक सभ्यता, जनसंख्या स्वास्थ्य, स्वच्छ ऊर्जा, तिब्बती सांस्कृतिक विरासत और संरक्षण, खनिज संसाधन, और खाद्य प्रसंस्करण जैसी प्रमुख वैज्ञानिक और तकनीकी परियोजनाओं के कार्यान्वयन को शुरू किया और प्रमुख कोर प्रौद्योगिकियों से निपटने में सकारात्मक प्रगति हासिल की।

पिछले पांच वर्षों में, तिब्बत के सामाजिक अनुसंधान और विकास व्यय में वार्षिक वृद्धि दर 17.5% है; राजकोषीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी व्यय का जीडीपी में 0.4% हिस्सा है। प्रति 10 हजार लोगों में आविष्कार पेटेंट की संख्या 1.75 से बढ़कर 2.51 तक जा पहुंची। उच्च तकनीक उद्यमों की संख्या 112 तक जा पहुंची, और अनुसंधान एवं विकास निवेश 4 अरब युआन से अधिक हो गया।

2023 में, तिब्बत इस बात पर कायम रहेगा कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्राथमिक उत्पादक बल हैं, प्रतिभा प्राथमिक संसाधन हैं, और नवाचार प्राथमिक प्रेरक शक्ति है। तिब्बत विज्ञान और शिक्षा से तिब्बत को समृद्ध करने, प्रतिभाओं से तिब्बत को मजबूत करने और नवाचार से विकास बढ़ाने की रणनीति निभाएगा, और शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, और प्रतिभाओं की मौलिक और रणनीतिक सहायक भूमिका और समग्र तैनाती के महत्व पर काबू करेगा।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)