Sri Lanka में पक्षियों की 81 प्रजातियां हो सकती हैं विलुप्त

कोलंबोः श्रीलंका में पक्षियों की कई दर्जन प्रजातियां विलुप्त हो सकती है। जैव विविधता सचिवालय ने कहा है कि देश के 81 पक्षी प्रजातियों के विलुप्त होने का खतरा है। रिपोर्ट के अनुसार, जैव विविधता सचिवालय की निदेशक आरएचएमपी अबेकून ने स्थानीय मीडिया को बताया, श्रीलंका पक्षियों की 435 प्रजातियों के साथ एक जैव विविधता हॉटस्पॉट है। यह 2022 के रेड डेटा बुक पर एक राष्ट्रव्यापी सर्वेक्षण के दौरान सामने आया है।

उन्होंने आगे कहा कि पक्षियों को मनुष्यों द्वारा उनके आवासों को किए गए नुकसान के कारण विलुप्त होने के खतरे का सामना करना पड़ रहा है। रेड डाटा बुक एक सार्वजनिक दस्तावेज है जो किसी विशेष क्षेत्र में मौजूद पौधों, जानवरों, कवक के साथ-साथ कुछ स्थानीय उप-प्रजातियों की लुप्तप्राय और दुर्लभ प्रजातियों को रिकॉर्ड करता है। श्रीलंका वर्तमान में लगभग 237 प्रकार के पक्षियों का घर है, जिनमें से कम से कम 26 स्थानीय प्रजातियां हैं। इसके अलावा, द्वीप राष्ट्र में कई प्रवासी पक्षी भी आते हैं।

श्रीलंका पर 2007 की आईयीसीएन रेड लिस्ट में पक्षियों की 10 प्रजातियों को गंभीर रूप से संकटग्रस्त के रूप में सूचीबद्ध किया गया और कई अन्य को लुप्तप्राय और कमजोर के रूप में सूचीबद्ध किया गया।