भारत में Manufacturing बढ़ाने की योजना बना रही है Apple: Goyal

Spread the News

​गांधीनगर: आईफोन कंपनी एप्पल भारत में विनिर्माण बढ़ाने की योजना बना रही है। वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा कि अनुकूल कारोबारी माहौल वैश्विक कंपनियों को यहां उनका आधार बनाने में मदद कर रहा है। ​उन्होंने कहा कि भारत में कानून व्यवस्था की स्थिति दुरुस्त है, सरकारी नीतियां और व्यापारिक मॉडल पारदर्शी हैं, जिससे भारत विदेशी निवेशकों के लिए उपयुक्त स्थान है। ​कुछ विदेशी कंपनियों की सफलता की कहानी साझा करते हुए गोयल ने कहा कि एप्पल पहले से ही अपने कुल विनिर्माण का 5-7 प्रतिशत भारत में करती है। उन्होंने कहा कि ‘‘अगर मैं गलत नहीं हूं, तो वे भारत में 25 प्रतिशत तक विनिर्माण का लक्ष्य बना रहे हैं। उन्होंने अपने हालिया मॉडल भारत से पेश किए। इन मॉडल का विनिर्माण भारत में ही हुआ था।’’ ​

गोयल यहां उद्योग मंडल भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा आयोजित बी20 इंडिया की शुरुआती बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।​इससे पहले पिछले साल नवंबर में दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा था कि एप्पल आईफोन के विनिर्माण की सबसे बड़ी इकाई कर्नाटक में बेंगलुरु के निकट होसुर में बनने वाली है, जिससे लगभग 60,000 लोगों को रोजगार मिलेगा।​कंपनी के लिए आईफोन का भारत में विनिर्माण इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों- फॉक्सकॉन, विस्ट्रॉन और पेगाट्रॉन द्वारा किया जाता है। ​दुनिया में आर्थिक अनिश्चितताओं के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि यह वर्ष दुनियाभर के लिए चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। ​

उन्होंने कहा कि कई देशों में महंगाई बहुत ज्यादा है लेकिन ऐसी परिस्थितियों में भी भारत में कीमतें नियंत्रण में हैं।​उन्होंने कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में औसत महंगाई दर 4.5 प्रतिशत होगी, जबकि पहले 10-12 प्रतिशत महंगाई दर आम थी। जिस समय विकसित अर्थव्यवस्थाएं जहां मंद पड़ गई हैं, वहीं भारतीय अर्थव्यवस्था नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के कारण दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के तौर पर उभर रही है। ​ब्याज दर बढ़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह स्थिति कोरोना महामारी और यूक्रेन-रूस युद्ध के कारण उत्पन्न हुई है।