बेंगलुरु में अवैध रूप से रह रही पाकिस्तानी महिला गिरफ्तार, बनवाए थे फर्जी दस्तावेज

बेंगलुरु भारत में अवैध रूप से रहने के लिए कथित तौर पर फर्जी पहचान बनाने वाली 19 वर्षीय पाकिस्तानी लड़की को बेंगलुरु में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इकरा जीवनी को गिरफ्तार कर एफआरआरओ अधिकारियों को सौंप दिया है। बाद में उसे महिला राजकीय गृह भेज दिया गया।

बेलंदूर पुलिस ने उत्तर प्रदेश से 25 वर्षीय सुरक्षा गार्ड मुलायम सिंह यादव को भी गिरफ्तार किया, जिससे पाकिस्तानी लड़की ने कुछ महीने पहले एक डेटिंग ऐप के जरिए उससे मुलाकात के बाद शादी की थी। पुलिस के मुताबिक, वह भारत-नेपाल सीमा के जरिए भारत में दाखिल हुई थी। जांच में पता चला कि यादव ने एक डेटिंग ऐप पर इकरा से दोस्ती की और उन्होंने शादी करने का फैसला किया।

सुरक्षा गार्ड ने उसे कुछ महीने पहले नेपाल बुलाया था, जहां उन्होंने शादी कर ली। यह जोड़ा बिहार के बीरगंज पहुंचने के लिए भारत आया और वहां से पटना पहुंचा। यादव और इकरा बाद में बेंगलुरु आ गए और जुन्नासंद्रा में किराए के मकान में रहने लगे, जहां यादव ने सितंबर 2022 से सुरक्षा गार्ड के रूप में काम करना शुरू किया।

यहां तक कि उसने इकरा का नाम बदलकर रवा यादव करने के बाद उसका आधार कार्ड भी हासिल कर लिया और भारतीय पासपोर्ट के लिए आवेदन कर दिया। इकरा केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के निशाने पर तब आई जब वह पाकिस्तान में अपने परिवार से संपर्क करने की कोशिश कर रही थी। केंद्रीय एजेंसियों ने कर्नाटक इंटेलिजेंस को सतर्क किया। सूचना पर पुलिस ने घर पर छापा मारा और दंपति को गिरफ्तार कर लिया। सूत्रों ने कहा कि इस बात की जांच की जा रही है कि पाकिस्तानी किसी जासूसी गिरोह का हिस्सा तो नहीं था।