मजबूत शिक्षा प्रणाली हमारे बेहतर भविष्य से है जुड़ी : अंतराष्ट्रीय शिक्षा दिवस

Spread the News

लोगों को शिक्षा के महत्व को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने के लिए, 3 दिसंबर 2018 को, संयुक्त राष्ट्र की 73वीं महासभा के 44वें पूर्णाधिवेशन में 24 जनवरी को “लोगों को शिक्षा के महत्व को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने के लिए, 3 दिसंबर 2018 को, संयुक्त राष्ट्र की 73वीं महासभा के 44वें पूर्णाधिवेशन में 24 जनवरी को “अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा दिवस” के रूप में नामित करने का प्रस्ताव पारित किया गया। प्रस्ताव सभी संयुक्त राष्ट्र सदस्य देशों, संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के संगठनों और निजी क्षेत्र को शांति और विकास की उन्नति के लिए शिक्षा के योगदान को मनाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा दिवस को उचित तरीके से मनाने के लिए आमंत्रित करता है। अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा दिवस “सभी के लिए आजीवन सीखने के अवसरों को सक्षम करने” की वकालत करता है।

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा न केवल हमारे सोचने के तरीके, हमारे कार्य और जीवन में हमारी खुशी को बदलती है, बल्कि यह स्वास्थ्य, जनसांख्यिकीय संक्रमण, आर्थिक विकास, प्रभावी सामाजिक संस्थानों के निर्माण और जलवायु परिवर्तन से निपटने का एक महत्वपूर्ण निर्धारक भी है। पूरी दुनिया में, एक मजबूत शिक्षा प्रणाली मानव जाति के भविष्य से निकटता से जुड़ी हुई है। लेकिन आज की दुनिया में, विकासशील देशों में बहुत से युवा वास्तव में अपेक्षाकृत कम संसाधनों वाले क्षेत्रों में बड़े होते हैं, और उनकी शिक्षा की समस्याएँ सभी लोगों के सामने आम चुनौतियाँ हैं। इसलिए, हमें एक ऐसी शिक्षा प्रणाली का निर्माण करने की आवश्यकता है जो निष्पक्ष, कुशल और लचीली हो ताकि कोई भी शिक्षा के अवसरों से वंचित न रहे।

समाज में शिक्षा को लोकप्रिय बनाने का कारण यह है कि किसी देश का सांस्कृतिक स्तर बड़े शहरों में व्यापारी वर्ग द्वारा प्राप्त शिक्षा के स्तर से नहीं, बल्कि गरीब क्षेत्रों में बुनियादी शिक्षा के लोकप्रियकरण के स्तर से निर्धारित होना चाहिए। इसके लिए न केवल अधिक सामाजिक ताकतों के ध्यान और सहायता की आवश्यकता है, बल्कि राष्ट्रीय नीतियों के समर्थन और मार्गदर्शन की भी आवश्यकता है, ताकि आज की शिक्षा आधुनिकीकरण, विश्व और भविष्य की ओर उन्मुख हो।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)