देश के द्वार की रक्षा और खुलेपन का संवर्धन, China में “स्मार्टकस्टम” के निर्माण में गति

हर वर्ष 26 जनवरी को अंतर्राष्ट्रीय कस्टम दिवस के रूप में मनाया जाता है। दरअसल, अंतर्राष्ट्रीय कस्टम दिवस का उद्देश्य सीमा शुल्क सहयोग और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को बढ़ावा देना है, साथ ही विभिन्न सीमा शुल्क संगठनों के बीच घनिष्ठ संबंध स्थापित भी करना है। हाल के वर्षों में, चीन के सीमा शुल्क ने “स्मार्ट कस्टम” के निर्माण को बढ़ावा देने के लिए उच्च तकनीक वाले स्मार्ट उपकरणों के व्यापक अनुप्रयोग पर भरोसा करते हुए बिग डेटा विश्लेषण, एआई इंटेलिजेंस और अन्य साधनों का उपयोग किया है। यह उद्यमों के प्रवेश और निकास की सुविधा देता है।

उदाहरण के लिए, छोंगछिंग सीमा शुल्क ने ऑप्टिकल लाइसेंस प्लेट पहचान प्रणाली शुरू की है, जो वाहनों के लिए कार्ड पास करने के लिए पिछले कुछ मिनटों के समय को केवल 30 सेकंड तक कम कर देता है, जिससे माल वाहन पहचान की सटीकता और मार्ग की दक्षता में सुधार करता है। वहीं, थ्येनचिन सीमा शुल्क ने“सीधे पोर्ट पर शिप करने”का व्यापार मॉडल लॉन्च किया है। निर्यात करने वाले उद्यमों को केवल स्थानीय कस्टम्स पर सीमा शुल्क घोषणा को पूरा करने की आवश्यकता होती है, और फिर माल कारखाने से सीधे बंदरगाह तक पहुंच सकता है। इससे, उद्यमों के लिए पोर्ट से कार्गो को ट्रांसशिप करने का समय 5 दिनों से घटकर 1-2 दिन हो सकता है। चीन में “स्मार्ट कस्टम” के निर्माण के चलते सीमा शुल्क कानून प्रवर्तन की निगरानी और प्रबंधन अधिक सटीक हो गए और उद्यमों को ज्यादा सुविधा मिलती है।

आंकड़ों के अनुसार, 2022 में चीन के माल व्यापार का कुल आयात और निर्यात मूल्य 420.7 खरब युआन था, जो 2021 की तुलना में 7.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई, और लगातार छह वर्षों तक दुनिया में पहले स्थान पर रहा है। ये आंकड़े दुनिया को एक मजबूत संकेत भेजते हैं कि चीन दृढ़ता से खुलेपन का विस्तार करेगा और एक खुली विश्व अर्थव्यवस्था के निर्माण को बढ़ावा देगा। विदेशों के लिए चीन का द्वार ज्यादा से ज्यादा खुल जाएगा। चीनी सीमा शुल्क खुलेपन के संवर्धन, विदेशी व्यापार की सेवा और देश के प्रवेश द्वार की रक्षा आदि क्षेत्रों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)