शिवसेना टकसाली द्वारा ऑस्ट्रेलिया के हिंदू मंदिरों को तोड़कर खालिस्तान जिंदाबाद लिखे जाने पर किया भारी रोष व्यक्त

Spread the News

अमृतसर: शिवसेना टकसाली द्वारा ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिर तोड़कर दीवारों पर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखे जाने पर रोष व्यक्त किया गया है। इस संदर्भ में बोलते हुए शिवसेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष बृज मोहन सूरी तथा राष्ट्रीय चेयरमैन मानिक सूरी द्वारा रोष व्यक्त किया गया कि अति निंदनीय है कि विदेशी धरती पर हिंदू धर्म का अपमान होता रहे और वहां की सरकार चुप कर बैठी रहे। भारत सरकार को चाहिए कि इस संदर्भ में ऑस्ट्रेलिया में अपना रोष जाहिर करें तथा दबाव बनाए कि जिन लोगों ने यह कार्य किया है उन्हें गिरफ्तार किया जाए। इस आगे बोलते हुए उपरोक्त नेताओं ने कहा कि इस संदर्भ में हम भारत में ऑस्ट्रेलिया की एंबेसी में रोष व्यक्त कर चुके हैं तथा यदि इस वहां कोई गिरफ्तारी नहीं होती है तो एंबेसी के बाहर धरना देकर रोष व्यक्त किया जाएगा। उपरोक्त नेताओं ने कहा कि सनातन धर्म का अपमान किसी भी सूरत में नहीं सहा जाएगा।

हिंदुओं को दबाने की यह साजिश नाकाम होकर रहेगी तथा हिंदुओं सिखों का आपसी भाईचारा किसी भी सूरत में कमजोर नहीं होगा 1984 में भी बहुत कोशिश की गई थी कि हिंदू सिख एकता खंडित हो जाए परंतु ऐसा हो नहीं सका अब फिर यह कोशिश की जा रही है। जिसे किसी भी सूरत में सफल नहीं होने दिया जाएगा तथा हिंदू सिख एकता बनी रहनी चाहिए। उन्होंने हिंदू तथा सिख दोनों से अपील की कि वह ऐसे लोगों की साजिश को समझें जो हिंदू सिख एकता में दरार डालना चाहते हैं तथा किसी तरह का कोई ऐसा कार्य ना करें जिससे आपसी भाईचारा खंडित हो। उन्होंने सरकार से मांग की कि अति शीघ्र इस दिशा में कदम उठाए जाएं तथा ऑस्ट्रेलिया में जो हुआ है उसे सीरियस लिया जाए तथा ऑस्ट्रेलिया सरकार से इस संदर्भ में अति शीघ्र बात की जाए और जो जवाब मिले वह जनता को बताया जाय इस मौके पर राष्ट्रीय यूथ महासचिव राहुल शर्मा राष्ट्रीय सलाहकार कमेटी सदस्य एडवोकेट राजेश चौहान पारस सूरी विमल खोसला राष्ट्रीय उप प्रधान यूथ शिवम कपूर पंजाब प्रधान एस सी सैल राकेश कल्याण उर्फ़ टफी पंजाब प्रधान जूनियर सैल साई अंश उर्फ़ कनु मजूद दे।