बिना हिजाब वाली महिलाओं को पीटने का मामला: ईरान में पुलिस बल घोषित होगा आतंकवादी!

Spread the News

ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉस (IRGC) के एक वैन से गुजर रहे पुलिसकर्मियों ने तेहरान की सड़कों पर बिना हिजाब वाली दो महिलाओं को देखा और वैन से उतर गए। उतरते ही एक महिला को लात-घूसों से इतना पीटा कि उसकी मौके पर ही मौत हो गई। ईरान का यह ताजा दृश्य देश की परंपराओं और नैतिकता के बारे में सवाल खड़े करता है। वीडियो सामने आने के बाद यूरोपीय संघ (ईयू) ने ईरान में पुलिस बल आईआरजीसी को आतंकी संगठन घोषित करने का अपना संकल्प और मजबूत कर लिया है।

ईरान में लंबे समय से आईआरजीसी को आतंकवादी संगठन घोषित करने का सिलसिला चल रहा है। यूरोपीय संघ ने सोमवार को कहा कि हिजाब विरोधी प्रदर्शनकारियों को ईरान द्वारा फांसी दिए जाने पर यूरोपीय संघ ने ईरान पर नए प्रतिबंध लगाए हैं, जबकि अदालत की अनुमति प्राप्त करने की प्रक्रिया चल रही है। सितंबर 2022 में महसा अमिनी की हिजाब न पहनने की वजह से पुलिस हिरासत में टॉर्चर के दौरान मौत हो गई थी. बाद में ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन हो रहे हैं। अब महिलाओं की पिटाई का ताजा वीडियो ईरान की एक महिला पत्रकार मसीह अलीनेजाद ने शेयर किया है।