Himachal पुलिस प्रमुख Sanjay Kundu और UNA के DC Raghav Sharma देश के टॉप-22 ब्यूरोक्रेट में हुए शामिल

Spread the News

शिमला : देश के टॉप22 ब्यूरोक्रेट में हिमाचल के पुलिस प्रमुख संजय कुंडू और ऊना के उपायुक्त राघव शर्मा को साल 2022 के लिए शामिल किया गया है। ब्यूरोक्रेट इंडिया संस्था ने समाज में बदलाव लाने वाले चेंज एजेंट ऑफ-2022 पुरस्कार के लिए प्रदेश के इन दोनों अधिकारियों को चयनित किया गया है। अब इन्हें जल्द ही इस पुरस्कार से नवाजा जाएगा। पुलिस की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाने, बेहतर पुलिसिंग के साथ-साथ प्रशासनिक सेवाओं की वजह से डीजीपी संजय कुंडू को चुना गया है। उन्होंने न्यूयॉर्क पुलिस विभाग के प्रसिद्ध ब्रोकन विंडो थ्योरी मॉडल का अनुसरण करते हुए पुलिसिंग में व्यापक सुधार किए।

कुंडू ने न्यूयॉर्क पुलिस की कार्यशैली व तकनीक पर काम करते हुए हिमाचल में आपराधिक मामले सुलझाने और बाहरी राज्यों से नशीले पदार्थो की तस्करी को रोकने में भी सराहनीय कार्य किया। संजय कुंडू के कार्यकाल में लगभग 50,000 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। इसी तरह राज्य में अपराध की जांच के लिए एविडेंस बेस्ड एंड प्रिडिक्टिव पुलिसिंग का मॉडल भी शुरू किया। इस पहल के बाद अपराध दर में 30 फीसदी तक की कमी दर्ज की गई है। संजय कुंडू यूनाइटेड नेशनल के तहत सूडान में उप पुलिस आयुक्त के रूप में भी काम कर चुके हैं। हिमाचल काडर के 2013 बैच के आईएएस राघव शर्मा अपनी प्रशासनिक क्षमता से सामाजिक ढांचे में सुधार के लिए जाने जाते हैं।

उन्होंने उपायुक्त ऊना रहते हुए महिलाओं, बच्चों, खासकर प्रवासी बच्चों के जीवन में सुधार व पढ़ाई के लिए कई कदम उठाए। राघव शर्मा ने हर उप-मंडल स्तर पर आधा दर्जन पुस्तकालयों का निर्माण कराया, ताकि बच्चे व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकें। उन्होंने प्रवासी मजदूरों के बच्चों के लिए बने गैरआवासीय प्रशिक्षण स्कूलों को भी बदल दिया। उनका लक्ष्य 10 और केंद्र बनाने का है। राघव शर्मा अब फसल विविधीकरण सुनिश्चित करने और किसानों की आय बढ़ाने के लिए जिले में ड्रैगन रूट की खेती को बढ़ावा देना चाह रहे हैं। उन्होंने ड्रैगन रूट की खेती और इसके लाभों के बारे में शिक्षित करने के लिए 2021 में प्रगतिशील किसानों के लिए एक कार्यशाला शुरू की हैं।