संविधान में निहित मूल्यों का उत्सव है गणतंत्र दिवस: Jagdeep Dhankhar

Spread the News

नयी दिल्ली: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने गुरुवार को कहा कि गणतंत्र दिवस संविधान में निहित मूल्यों का उत्सव है। धनखड़ ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर यहां जारी एक संदेश में कहा कि गणतंत्र दिवस संविधान और उसमें निहित सभ्यतागत मूल्यों में विश्वास का उत्सव है। यह स्वतंत्रता सेनानियों और गुमनाम नायकों के योगदान को याद करने का अवसर भी है जिनके बलिदान ने भारतीय गणतंत्र की नींव रखी है। उन्होंने कहा, “इस अवसर पर, हम अपनी उपलब्धियों को याद करते हुए, नए जोश के साथ राष्ट्र निर्माण के प्रयास के प्रति खुद को फिर से समर्पित करें।”

पूर्व उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि भारत सभी क्षेत्रों में वैश्विक स्तर पर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि समस्त नागरिकों को अपने समृद्ध सांस्कृतिक मूल्यों और विरासत की विविधता की रक्षा करते हुए गणतंत्र के संस्थापकों के आदर्शों को पूरा करते हुए एक समतावादी समाज के निर्माण की दिशा में सामूहिक रूप से काम करना चाहिए। नायडू ने कहा, “भारत के 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर देशवासियों को मेरी शुभकामनाएं। इस ऐतिहासिक दिवस पर, आइए हम अनगिनत प्रतिष्ठित और ऐसे स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद करें जिनसे लोग कम परिचित हैं और उनके सपनों के भारत निर्माण का प्रयास करें।”