Agra again

Agra में कोरोना वैक्सीन मामले में स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड में फिर हो गई गलती

आगरा : आगरा में कोरोना वैक्सीन मामले में स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड में फिर गलती होने का समाचार मिला है। हीरेंद्र नरवार ने 7 जून को विभव नगर बूथ पर पर वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। उस समय हीरेंद्र को जाे प्रमाण पत्र दिया गया, उसमें वैक्सीन का ब्रांड नाम को-वैक्सीन बताया गया और दूसरी खुराक के लिए 1 माह बाद 7 जुलाई का समय दिया गया। हीरेंद्र वह कार्ड लेकर घर आ गए। घर पहुंचने के थोड़ी देर बाद उनके पास वैक्सीन लगने का मैसेज आया। इस मैसेज को पढ़कर हीरेंद्र परेशान हो गए। मैसेज में लिखा था कि उनको कोविशील्ड की पहली डोज लगी है। वह इसका आनलाइन सर्टिफिकेट भी डाउनलोड कर सकते हैं। 

जब उन्होंने कोविन पोर्टल पर जाकर सर्टिफिकेट डाउनलोड किया तो उसमें भी कोविशील्ड की डोज लगाना ही दिखा रहा है। अब हीरेंद्र परेशान हैं, उनकी समझ नहीं आ रहा कि उनको कौन-सी वैक्सीन लगी है और दूसरी डोज किस वैक्सीन की लगवानी है और कब। हीरेंद्र ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही  से पहले उनके अप्वाइंटमेंट पर किसी और को वैक्सीन लगा दी गई थी। हीरेंद्र ने बताया कि 5 जून को उनका वैक्सीन लगवाने का अप्वाइंटमेंट था। वह समय पर विभव नगर वैक्सीनेशन केंद्र पर पहुंच गए। यहां पर उन्हें बताया गया कि सर्वर डाउन है, इसलिए उन्हें वैक्सीन नहीं लग पाएगी। 

इस दौरान हीरेंद्र घर वापस आ गए। मगर उनको घर पहुंचते ही मैसेज आया कि उनको वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। जब वह अगले दिन वैक्सीनेशन केंद्र गए और मैसेज दिखाया तो वहां पर किसी ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद हीरेंद्र ने टोल फ्री नंबर 1075 पर शिकायत दर्ज कराई। बता दें कि वैक्सीन लगवाने मे केवल हीरेंद्र के साथ ही लापरवाही नहीं हुई है बल्कि ट्रांस यमुना कालोनी निवासी शिव कुमार गुप्ता के साथ भी ऐसा हुआ है। 

70 वर्षीय शिव कुमार गुप्ता ने बताया कि 4 अप्रेल को उनको दूसरी डोज लग गई थी। मगर 10 दिन पहले उनके पास दूसरी डोज लगवाने के लिए मैसेज आया। ऐसे में वह चक्कर में पड़ गए। जब उन्होंने आनलाइन सर्टिफिकेट डाउनलोड किया तो उसमें वैक्सीन की डोज की तिथि जून से जुलाई के बीच दिखा रहा था।



Live TV

Breaking News


Loading ...