Holi

आप भी जानिए होलिका की पूजा विधि और पूजा सामग्री के बारे में

Holi

हर साल होली का त्यौहार बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है। हर साल की तरह इस साल होली का पर्व 29 मार्च को आ रहा है। इस दिन लोग बहुत ही धूम धाम से मनाते है। इस दिन होली दहन भी किया जाता है। क्या आप जानते है होलिका की पूजा विधि और पूजा समाग्री के बारे में। आज हम आपको बताने जा रहे है होलिका की पूजा विधि और पूजा सामग्री के बारे में :

1. सबसे पहले होलिका पूजन के लिए पूर्व या उत्तर की ओर अपना मुख करके बैठें।
2. अब अपने आस-पास पानी की बूंदें छिड़कें।
3. गोबर से होलिका और प्रहलाद की प्रतिमाएं बनाएं।
4. थाली में रोली, कच्चा सूत, चावल, फूल, साबुत हल्दी, बताशे, फल और एक कलश पानी रखें।
5. नरसिंह भगवान का स्मरण करते हुए प्रतिमाओं पर रोली, मौली, चावल, बताशे, फूल और समस्त सामग्री अर्पित करें।
6. अब सभी एकत्रित सामान लेकर होलिका दहन वाले स्थान पर ले जाएं।
7. अग्नि जलाने से पहले अपना नाम, पिता का नाम और गोत्र का नाम लेते हुए अक्षत (चावल) में उठाएं और भगवान गणेश का स्मरण कर होलिका पर अक्षत अर्पण करें।
8. इसके बाद प्रहलाद का नाम लें और फूल चढ़ाएं।
9. भगवान नरसिंह का नाम लेते हुए पांच तरह के अनाज चढ़ाएं।
10. अब दोनों हाथ जोड़कर अक्षत, हल्दी और फूल चढ़ाएं।
11. कच्चा सूत हाथ में लेकर होलिका पर लपेटते हुए परिक्रमा करें।
12. आखिर में गुलाल डालकर चांदी या तांबे के कलश से जल चढ़ाएं। थाली में रखी सभी पूजन सामग्री चढ़ा दीजिए। जब होली जलाई जाए तब उसकी ताप ग्रहण करें... जलती होली में नारियल, गोमती चक्र और मिठाई चढ़ाएं...



Live TV

Breaking News


Loading ...