#kitchen #smallthings #lifestyle #health #DainikSaveraNo1News #DainikSaveraTVNews #DainikSaveraNews

आप भी जानिए रसोई की इन छोटी-छोटी चीजों के गुण हैं बड़े-बड़े

रसोई में रखी छोटी-छोटी जड़ी-बूटियां हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा होती हैं। इन्हें हम भोजन को स्वादिष्ट बनाने में इस्तेमाल करते हैं। स्वास्थ्य और सौन्दर्य का बाजार भी इन जड़ी बूटियों के सहारे ही चलता है। आइए हम बताते हैं कि ऐसी कौन-सी जड़ी-बूटियां हैं:

हींग : कफ और अस्थमा के रोगियों के लिए यह उपयोगी होती है। कश्मीर में ही नहीं बल्कि हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेशीय खाने को हींग द्वारा सुगंधित और लजीज बनाया जाता है। भोजन पकाने के बाद थोड़े से तेल में हींग का छोंक भोजन को महका देता है।

अजवाइन : आयुर्वेद में अजवाइन को कई रोगों की चिकित्सा में सहायक माना गया है। अपच, गैस, अफारा, हिचकी होने पर इसका इस्तेमाल किया जाता है। इससे सिरदर्द और सर्दी को भी भगाया जा सकता है।

जीरा : पेटदर्द, पेट के कीड़े, हिचकी के दौरान जीरे का सेवन लाभदायक होता है। भारतीय खाने में तो जीरा किसी भी भोजन में भूनकर या तेल में पकाकर डाला जाए तो यह भोजन को सौंधापन देता है।

दाल-चीनी : बिरयानी और पुलाव खाने वाले इस बात को अच्छी तरह जानते हैं कि दाल- चीनी किसी भी पुलाव की जान होती है। यह खाने को सुगंधित बनाती है इसलिए अपनी रसोई में रखे मसालों में दाल-चीनी को भोजन में ज्यादा से ज्यादा शामिल करें। दाल-चीनी का उपयोग पेट संबंधी बीमारियों और भोजन में होता है।

लौंग : जैसे कि हमारी दादी मां कहा करती थीं कि लौंग का पाऊडर एंटीसैप्टिक होता हैऔर दांत दर्द के लिए लौंग का तेल कारगर होता है। लौंग को चबाने से दांतों की कैविटी से छुटकारा मिलता है। यह शरीर को गर्म रखती है। दांत दर्द के लिए यह सदियों से घरेलू दवा के रूप में इस्तेमाल होती आ रही है।

धनिया : इस धनिया नाम की जड़ी-बूटी का औषधीय महत्व तो है ही इसके अलावा यह भारतीय भोजन की जान भी है। धनिया हमारी श्वास नली के अवरोधों को दूर करता है और यह पेट की सफाई करता है। धनिया और पुदीने की चटनी के गजब स्वाद के तो क्या कहने। ताजा हरा धनिया किसी भी तैयार
सब्जी के ऊपर बारीक-बारीक काटकर सजा दिया जाए तो यह सब्जी के स्वाद के साथसाथ उसके सौन्दर्य को भी बढ़ाता है। धनिए के बीज को परंपरागत रूप से कॉलैस्ट्रॉल को नियंत्रित करने वाला माना जाता है।

मेथी: यह एक लोकप्रिय प्राकृतिक एंटीडायबिटिक औषधि है। इस जड़ी बूटी की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह नॉनडायबिटिक के लिए भी उतनी ही फायदेमंद है जितनी डायबिटिक लोगों के लिए। इसके अनगिनत फायदे हैं जो इसे खाकर ही प्राप्त किए जा सकते हैं।

Live TV

Breaking News


Loading ...