9 फरवरी को केंद्रीय मंत्री मुंडा की अध्यक्षता में होगा 62वां दीक्षांत समारोह, राष्ट्रपति मुर्मु होगी मुख्य अतिथि

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण तथा खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री सुश्री शोभा करंदलाजे एवं कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी विशेष अतिथि होंगे।

नई दिल्ली: स्नातक विद्यालय, भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई), दिल्ली का 62वां दीक्षांत समारोह 9 फरवरी को भारत रत्न सी. सुब्रमण्यम हॉल, पूसा में होगा। राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु मुख्य अतिथि होगी और केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण तथा जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा अध्यक्षता करेंगे। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण तथा खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री सुश्री शोभा करंदलाजे एवं कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी विशेष अतिथि होंगे।

डेयर के सचिव व भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. हिमांशु पाठक तथा आईएआरआई के निदेशक डॉ. ए. के. सिंह ने आज यह जानकारी पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि दीक्षांत समारोह में कृषि विज्ञान के 26 विषयों में 5 विदेशी छात्रों सहित 543 छात्र डिग्री प्राप्त करेंगे। हरित क्रांति का अग्रदूत आईएआरआई, राष्ट्र की खाद्य सुरक्षा के मजबूत स्तंभों में से एक है, जिसके पास अनुसंधान, शिक्षण और विस्तार में 118 वर्षों से अधिक की उत्कृष्टता की समृद्ध विरासत है। वर्तमान में देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आईएआरआई, प्रौद्योगिकियों के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

डॉ. सिंह ने बताया कि आईएआरआई में छात्र संख्या 2687 है। इसकी उत्कृष्टता अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त है। इसने अफगानिस्तान राष्ट्रीय कृषि विज्ञान व प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कंधार, अफगानिस्तान की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। संस्थान आधुनिक सुविधाओं से लैस T संस्थान ने 30 उच्च उपज देने वाली किस्मों को विकसित- जारी किया है। आईएआरआई द्वारा विकसित गेहूं की किस्में 9 मिलियन हेक्टेयर में फैली हैं व अन्न भंडार में 40 मिलियन टन गेहूं का योगदान करती हैं। 2023 में आईएआरआई ने देश के गेहूं उत्पादन क्षेत्रों के लिए ब्रेड गेहूं की 5 किस्में जारी की है।

Author

- विज्ञापन -

Latest News