मोहाली RPG अटैक का मुख्य शूटर रंगा गिरफ्तार, NIA ने गोरखपुर से दबोचा

Spread the News

चंडीगढ़: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मोहाली स्थित पंजाब इंटेलिजेंस हैडक्वार्टर पर आरपीजी अटैक के मुख्य शूटर दीपक रंगा को गिरफ्तार किया है। आरपीजी हमले के बाद से फरार चल रहे दीपक रंगा को एनआईए ने बुधवार सुबह गोरखपुर से गिरफ्तार किया है। हरियाणा के झज्जर जिले के गांव सूरकपुर का रहने वाली दीपक रंगा कनाडा स्थित गैंगस्टर से आतंकी बने लखबीर सिंह उर्फ़ लंडा और पाकिस्तान स्थित गैंगस्टर से आतंकी बने हरविंदर सिंह रिंदा का करीबी सहयोगी है।

आरपीजी हमले में शामिल होने के अलावा दीपक हत्याओं सहित कई अन्य आतंकी और आपराधिक मामलों में शामिल रहा है। वह सक्रिय रुप से रिंदा और लंडा से आतंकी फंड और अन्य सहायता प्राप्त करता रहा है। एनआईए ने आरपीजी अटैक मामल में 20 सितंबर 2022 को मामला दर्ज किया था। एनआईए ने यह मामला तब दर्ज किया था जब उसे सूचना मिली कि आतंकी संगठन और विदेश स्थित आतंकी तत्वों द्वारा टारगेट किलिंग और हिंसक घटनाओं को अंजाम देने के लिए देश के उत्तरी राज्यों में संचालित आपराधिक गिरोहों के सरगना और सदस्यों के साथ मिल कर काम कर रहे थे।

इन आतंकी गैंगस्टर ड्रग तस्कर नैटवर्क के खिलाफ 3 एफआईआर दर्ज होने के बाद एनआईए ने पहले ही यूएपीए के तहत नेटवर्क से जुड़े विभिन्न गिरोहों के 19 व्यक्तियों, 2 हथियार सप्लायरों और एक बड़े फाइनांसर को पहले ही गिरμतार कर लिया था। मालूम हो कि कनाडा बेस्ड आतंकी अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डल्ला को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आतंकी घोषित किया है।