MP संजय भाटिया ने संसद में पानीपत के उद्योगों और करनाल संसदीय क्षेत्र को NCR से बाहर करने की उठाई मांग

पानीपत: करनाल लोकसभा क्षेत्र के सांसद संजय भाटिया ने संसद में करनाल लोकसभा क्षेत्र को NCR से बाहर करने या पानीपत की औद्योगिक इकाइयों में बॉयलरों में कोयले के इस्तेमाल की अनुमति देने का अनुरोध करते हुए इसकी पुरजोर मांग उठाई है। उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र की मांग को उठाते हुए कहा कि करनाल लोकसभा क्षेत्र.

पानीपत: करनाल लोकसभा क्षेत्र के सांसद संजय भाटिया ने संसद में करनाल लोकसभा क्षेत्र को NCR से बाहर करने या पानीपत की औद्योगिक इकाइयों में बॉयलरों में कोयले के इस्तेमाल की अनुमति देने का अनुरोध करते हुए इसकी पुरजोर मांग उठाई है। उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र की मांग को उठाते हुए कहा कि करनाल लोकसभा क्षेत्र में हजारों औद्योगिक इकाइयां हैं, जोकि कोयले से चलती हैं। इन औद्योगिक इकाइयों में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा कोयले के इस्तेमाल को लेकर नोटिस दिया जा रहा है।

संजय भाटिया ने कहा कि PCB की तरफ से औद्योगिक इकाइयों ने लगे बॉयलर को कोयले के बजाय पीएनजी में बदलने के नोटिस आ रहे हैं। सांसद ने मांग उठाते हुए कहा कि बॉयलर को PNG पर लाने से ईंधन की लागत बहुत बढ़ जाएगी। इससे पानीपत की औद्योगिक इकाइयां वैश्विक स्तर पर कीमतों में मुकाबला नहीं कर पाएंगी। क्योंकि इससे ईंधन की लागत भी 3 गुना बढ़ जाएगी जो आर्थिक रूप से भी व्यावहारिक नहीं है। उन्होंने पुरजोर मांग उठाते हुए कहा कि अगर कोयले से चलने वाले सभी बॉयलर इकाइयों को छूट नहीं दी गई तो इकाइयां बंद हो जाएंगी और वैश्विक स्तर पर पिछड़ जाएंगे। यही नहीं व्यापार के क्षेत्र में वे शेष भारत से भी पिछड़ जाएंगे। पीएनजी भी बहुत महंगी है और पीएनजी सप्लाई कंपनी का क्षेत्र में एकाधिकार है, इसलिए वर्तमान समय में औद्योगिक इकाइयों की मांग को देखते हुए और पानीपत की औद्योगिक इकाइयों को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा बरकरार रखने के लिए कोयले की अनुमति प्रदान करें या करनाल संसदीय क्षेत्र को NCR से बाहर किया जाए।

 

 

 

Author

- विज्ञापन -

Latest News