KMP Expressway के साथ बनने वाले हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर के मुआवजे को लेकर किसान आज भूख हड़ताल पर बैठे

Spread the News

हरियाणा: केएमपी एक्सप्रेसवे के साथ बनने वाले हरियाणा रेल ऑर्बिटल कॉरिडोर का मुआवजा बढ़ाने के लिए चल रहा धरना आज 20वें दिन में प्रवेश कर गया है। किसानों को केएमपी एक्सप्रेसवे के मांडौठी टोल प्लाजा पर बैठे हुए भले ही 20 दिन हो गए हो, लेकिन सरकार का कोई प्रतिनिधि इनकी सुध लेने नहीं पहुंचा है। जिसके चलते किसानों ने यहां गांधीवादी तरीके से अनशन शुरू कर दिया है। आज यहां 44 किसान 24 घंटे के लिए अनशन पर बैठे हैं। इतना ही नहीं किसानों ने कल से केएमपी एक्सप्रेसवे पर टोल वसूली बंद करने की भी चेतावनी दी है।

केएमपी एक्सप्रेसवे के साथ सरकार एक बहुत ही महत्वपूर्ण रेल प्रोजेक्ट शुरू करने वाली है। केएमपी एक्सप्रेसवे के साथ-साथ हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर बनने वाला है। इसके लिए झज्जर जिले के किसानों की जमीन का अधिग्रहण कर मुआवजा भी घोषित किया का चुका है। लेकिन बहादुरगढ़ के मांडोठी टोल प्लाजा पर पिछले 20 दिन से किसान अपनी मुआवजा राशि बढ़ाने के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि स्थानीय अधिकारियों ने उनकी बेशकीमती जमीन का मुआवजा बेहद कम घोषित किया है। जिससे किसानों में रोष है। किसानों का कहना है कि यहां के अधिकारी केएमपी एक्सप्रेसवे को ना तो स्टेट हाईवे मान रहे हैं और ना ही नेशनल हाईवे। ऐसे में उनका मुआवजा बेहद कम बनाया गया है। कानून के हिसाब से उनका मुआवजा ज्यादा बनता है और इसे बढ़ाने की मांग किसान कर रहे हैं।

किसानों ने अब तक शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया है लेकिन अब उनका प्रदर्शन जोर पकड़ने वाला है। किसानों ने कल से केएमपी टोल प्लाजा पर टोल वसूली बंद करने की चेतावनी दी है। किसानों का कहना है कि सरकार अगर मुआवजा नहीं बढ़ाती है तो आगे उनका आंदोलन और भी तेज होगा। किसान हर हाल में अपनी बेशकीमती जमीनों का उचित मुआवजा लेकर रहेंगे। बहरहाल किसानों ने सरकार के सामने अपनी मांगे रख दी है लेकिन सरकार कब तक किसानों की मांगों की ओर ध्यान देती है , ये देखने वाली बात होगी।