नौकरी से सस्पेंड चल रहे हवलदार और उसके साथियों पर रेस्टोरेंट के बाहर तेजधार हथियारों से हमला, देखे वीडियो

हमलावरों ने आकर गाड़ी की तोड़ फोड़ करनी शुरू कर दी और हम पर हमला कर दिया।

गुरदासपुर पठानकोट नेशन हाईवे पर स्थित बरियार बाइपास चौक पर एक निजी रेस्टोरेंट के बाहर गुंडागर्दी का नंगा नाच हुआ, यहां 6-7 हथियारबंद हमलावरों ने थार गाड़ी में बैठे नौकरी से सस्पेंड हवलदार और उसके साथियों पर तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। हवलदार ने गाड़ी पर गोली चलाने का भी आरोप लगाया है, लेकिन पुलिस ने गोली चलने की पुष्टि नहीं की है। हवलदार जतिंदर सिंह ने आशंका जताई है कि उन पर दर्ज अपहरण के मामले के चलते हमला किया गया हो, इस केस की वजह से वह सस्पेंड हुए हैं। वारदात की सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इसमें 6-7 हमलावर पहले रेस्टोरेंट के अंदर जाते नजर आ रहे हैं और फिर बाहर आकर थार गाड़ी पर हमला कर देते हैं। हमले में जख्मी हवलदार जतिन्दर का अमृतसर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। थाना दीनानगर के प्रभारी मनदीप सिंह ने बताया कि जतिन्दर सिंह और उसके साथियों के बयान लेने के बाद बिक्रमजीत सिंह बिक्का और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि फिलहाल गाड़ी पर फायरिंग होने की कोई बात सामने नहीं आई है, मामले की जांच की जा रही है।

हमलावर पर पहले भी नशे और नजायज हथियार के केस दर्ज होने का आरोप

हवलदार जतिन्दर सिंह ने बताया कि वो शाम करीब साढ़े सात बजे होटल के बाहर अपने एक वकील दोस्त की थार गाड़ी में साथियों के साथ बैठा था। इतने में हमलावरों ने आकर गाड़ी की तोड़ फोड़ करनी शुरू कर दी और हम पर हमला कर दिया। उसने आरोप लगाया कि गाड़ी पर 2 फायर भी किए गए हैं। उसने बताया कि गाड़ी अंदर से लॉक होने के कारण हमलावर न ही गाड़ी के अंदर आ सके और न ही उन्हें बाहर निकाल पाए। जिससे उन्हें ज्यादा चोटें नहीं लगी हैं, हाथ ही जख्मी हुआ है। जतिन्दर ने बताया कि जब तक उन्होंने वहां से गाड़ी नहीं भगाई हमलावर तब तक गाड़ी पर हमला करते रहे। हमला करने वालों में से एक को उसने पहचान लिया है। जो बिकर्मजीत सिंह बिक्का निवासी गांव सठियाली है। उसने आरोप लगाया कि बिक्का पर पहले भी नशीले पदार्थों के मामला दर्ज हैं, जबकि कुछ दिन पहले ही उससे अवैध पिस्तौल मिला था और उसका भी मामला थाना दीनानगर में दर्ज है। जतिन्दर ने बताया कि बिक्का से उसकी कोई रंजिश नहीं है। हो सकता है कि मेरे पर चल रहे अपहरण के केस के चलते हमला किया गया हो। वहीं अब अमृतसर के एक निजी अस्पताल में उसका इलाज किया जा रहा है उन्होंने मांग की है के इन आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए

Author

- विज्ञापन -

Latest News