गत्तके के प्रशासनिक ढांचे, प्रशिक्षण और अनुसंधान कामों को और ज्यादा क्रियाशील बनाऐंगे: हरजीत सिंह ग्रेवाल

चंडीगढ़: गत्तके के प्रशासनिक ढांचे, प्रशिक्षण और खोज कामों को और ज्यादा प्रगतिशील और प्रभावशाली बनाने के मकसद से भारत की सबसे पुरानी रजिस्टर्ड गतका खेल संस्था, ’नेशनल गतका एसोसिएशन ऑफ इंडिया’ ने अपने छह अलग-अलग डायरैक्टोरेटों की स्थापना 36 डायरैक्टर नामज़द किये हैं। जो अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में स्वतंत्र तौर पर कार्य करेंगे और.

चंडीगढ़: गत्तके के प्रशासनिक ढांचे, प्रशिक्षण और खोज कामों को और ज्यादा प्रगतिशील और प्रभावशाली बनाने के मकसद से भारत की सबसे पुरानी रजिस्टर्ड गतका खेल संस्था, ’नेशनल गतका एसोसिएशन ऑफ इंडिया’ ने अपने छह अलग-अलग डायरैक्टोरेटों की स्थापना 36 डायरैक्टर नामज़द किये हैं। जो अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में स्वतंत्र तौर पर कार्य करेंगे और हर तिमाही पर अपनी लिखित सिफारिशें- कम-रिपोर्टें नेशनल गतका एसोसिएशन के प्रशासनिक डायरैक्टोरेट को सौंपेंगे और इस राष्ट्रीय खेल एसोसिएशन की तरफ से इन रिपोर्टों के आधार पर विश्व गतका फेडरेशन के लिए सालाना प्रगति रिपोर्ट और खेल कैलंडर तैयार किया जायेगा।

आज यहां यह जानकारी देते हुए नेशनल गतका एसोसिएशन के प्रधान स. हरजीत सिंह ग्रेवाल स्टेट ऐवार्डी ने बताया कि खेल डायरैक्टोरेट में नामज़द छह तकनीकी अधिकारियों की तरफ से प्रशासनिक डायरैक्टोरेट के साथ तालमेल करके अलग- अलग स्तर के टूर्नामैंटों की योजना बनाना, प्रबंध जुटाने, मुकाबले आयोजित करने और टूर्नामैंट पूरा किये जाएंगे। इसके इलावा मुकाबलों के दौरान कम्प्यूटराईजड ‘गतका मैनेजमेंट टी. एस. आर. सिस्टम’ को लागू करना और गतका खेल के साजो-समान (शस्त्रों) के मानकीकरण को कंट्रोल करना होगा। इस डायरैक्टोरेट में तलविन्दर सिंह फ़िरोज़पुर, रमनजीत सिंह शंटी जालंधर, गुरप्रीत सिंह बठिंडा, सरबजीत सिंह लुधियाना, मनजीत सिंह बालीआं संगरूर और रविन्द्र सिंह रवि होशियारपुर बतौर डायरैक्टर नामज़द किये गए हैं।

इसी तर्ज़ पर स्थापित ट्रेनिंग और कोचिंग डायरैक्टोरेट की तरफ से गतका प्रशिक्षण सम्बन्धित मौजूदा और भावी ज़रूरतों का विश्लेषण करते हुए सर्वोत्तम खिलाड़ियों, कोचों, रैफ़रियों, तकनीकी अधिकारियों की और महारत और विकास के लिए बेहतर प्रशिक्षण और कोचिंग सेवाओं को डिज़ाइन करना, विकसित करना, प्रमाणित करना, प्रदान करना और मूल्यांकन करना शामिल है। इसके इलावा खिलाड़ियों के लिए अलग-अलग किस्म और स्तर के प्रशिक्षण कैंप, रिफरैशर कोर्स/क्लीनक लगाने की योजना बनाना, प्रबंध जुटाने, आयोजित करने और पूरा करने होंगे। इस डायरैक्टोरेट में नामज़द 13 बतौर डायरैक्टरों में इन्दरजोध सिंह सन्नी जीरकपुर, हरकिरनजीत सिंह फाजिल्का, योगराज सिंह खमानो, सिमरनजीत सिंह चंडीगढ़, हरजिन्दर सिंह तरन तारन, जोरावर सिंह दिल्ली, लखविन्दर सिंह फ़िरोज़पुर, सुखदीप सिंह लुधियाना, बलदेव सिंह मोगा, तलविन्दर सिंह फ़िरोज़पुर, रमनजीत कौर दिल्ली, चरनजीत कौर मोहाली और सिमरनदीप कौर जम्मू शामिल हैं।

Author

- विज्ञापन -

Latest News