PM Modi ने BJP के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की 2 दिवसीय बैठक का किया उद्घाटन

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व के आर्थिक रुप से प्रभावशाली 20 देशों के समूह जी-20 की अध्यक्षता को देश के लिए गौरव का मौका बताते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व का आज आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भाजपा को भी देश में जी-20 से संबंधित ऐसे कार्यक्रम चलाने चाहिए जिससे हर.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व के आर्थिक रुप से प्रभावशाली 20 देशों के समूह जी-20 की अध्यक्षता को देश के लिए गौरव का मौका बताते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व का आज आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भाजपा को भी देश में जी-20 से संबंधित ऐसे कार्यक्रम चलाने चाहिए जिससे हर नागरिक जुड़े।

मोदी ने सोमवार को यहां दीनदयाल मार्ग स्थित भाजपा के केंद्रीय कार्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की दो दिवसीय बैठक का उद्घाटन करते हुए यह बात कही। बैठक की अध्यक्षता भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने की। बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों के अलावा सभी प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश संगठन महामंत्री, प्रदेश प्रभारी और मोचरें के प्रभारी भाग ले रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार इस बैठक में सभी वरिष्ठ नेताओं ने आगामी विधानसभा चुनावों के साथ साथ 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों तथा पार्टी की भविष्य की रणनीति को लेकर मंथन किया। बैठक में विभिन्न संगठनात्मक गतिविधियों की समीक्षा की गई। पार्टी ने 2019 लोकसभा चुनावों में हारी सीटों की जिम्मेदारी केंद्रीय मंत्रियों को देने का निर्णय किया है ताकि 2024 के चुनावों में उन्हें जीता जा सके।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने बैठक के बारे में कहा कि आर्थिक मोर्चे पर देश के बढ़ते कद और देश की जी-20 अध्यक्षता के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने सहित कई मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि बैठक के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पदाधिकारियों को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि आज देश कैसे विश्व पटल पर आर्थिक शक्ति के तौर पर उभरा है। प्रधानमंत्री मोदी ने जी-20 की अध्यक्षता भारत को मिलने का उल्लेख करते हुए कहा कि ये प्रत्येक भारतीय के लिए गर्व का विषय है। प्रधानमंत्री ने पार्टी नेतृत्व से अपील कर कहा कि पार्टी को इससे संबंधित कार्यक्रम चलाने चाहिए जिससे देश का हर नागरिक इससे जुड़े और भारत की संस्कृति की श्रेष्ठता का प्रसार कर सके। इस दौरान ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ पर भी चर्चा हुई।

डॉ. सिंह ने कहा कि बैठक में प्रधानमंत्री ने काशी-तमिल समागम तथा सीमावर्ती गांवों को लेकर भी चर्चा की। मोदी ने सीमावर्ती गांवों ‘वाइब्रेंट बॉर्डर विलेज’ की चर्चा करते हुए कहा कि ऐसे गांवों से संपर्क बढ़ाना चाहिए जिससे वो देश के लोगों के साथ संपर्क में रहें। एक-दूसरे की सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े रहें। सरकारी योजनाओं का फायदा उनको मिले इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को उनसे संपर्क बनाना चाहिए। मोदी ने ये भी आग्रह किया कि पार्टी पदाधिकारियों को उनके गांव में रात्रि विश्रम भी करना चाहिए। मोदी ने देश के एक हिस्से को दूसरे से सांस्कृतिक तौर पर जोड़ने के लिए स्नेह मिलन अभियान चलाने की बात कही।

Author

- विज्ञापन -

Latest News