देश के किसानों को दबाने के लिए BJP ने झोंकी पूरी ताकत: डॉ. सुशील गुप्ता

खट्टर सरकार ने 2 साल पहले भी कंटीले तार बिछाए थे, लाठियां भांजी गई थी: डॉ. सुशील गुप्ता

चंडीगढ़ : आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सुशील गुप्ता ने सोमवार को चंडीगढ़ स्थित आम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यालय से प्रेस वार्ता की। उनके साथ किसान विंग के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप भांभू और उपाध्यक्ष प्रवीण घुसकानी मौजूद रहे। उन्होंने कहा की एक तरफ केंद्र सरकार एमएस स्वामीनाथन और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न के सम्मान से नवाज रही है, जिन्होंने अपना पूरा जीवन किसान कौम के लिए समर्पित कर दिया। वहीं आज हरियाणा में किसानों को पूरी तरह से बंधक बनाने की तैयारी की जा रही है। एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी किसानों को कुचलने की तैयारी कर रही है। किसानों ने तीन काले कानूनों के खिलाफ लंबा संघर्ष किया। उस संघर्ष में मनोहरलाल खट्टर ने भी इनकी जड़ें चीन और पाकिस्तान में बताई।

उन्होंने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार ने 2 साल पहले भी कंटीले तार बिछाए थे, लाठियां भांजी गई थी और उनके रास्ते में सीमेंट के बैरिकेड लगाए गए थे। दोबारा से फिर मनोहर लाल खट्टर इसी तैयारी में हैं। 750 किसानों ने शहादत दी थी। तब प्रधानमंत्री मोदी ने तीन काले कानूनों को वापस लिया था और एमएसपी की गारंटी को लाने के लिए कानून बनाने का वादा किया था।

उन्होंने कहा की देश के किसान प्रधानमंत्री मोदी को उनका वादा याद दिलाने दिल्ली जा रहे हैं, लेकिन खट्टर सरकार ने बॉर्डर सील कर दिए, सीमेंटेड ब्लॉक लगा दिए। जनता को भारी परेशानी हो रही है, परंतु हरियाणा पुलिस जिस तरीके से सड़कों को अवरूद्ध करने का काम कर रही है, वो निंदनीय है। गांव में जाकर किसानों को धमकाया जा रहा है। कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की हरियाणा पुलिस धमकी दे रही है। अंबाला में किसानों से उनके बैंक डिटेल, प्रॉपर्टी डिटेल मांगी जा रही है। वहीं कोई भी नुकसान होने पर संपत्ति कुर्क करने की धमकी भी दी गई है।

उन्होंने कहा कि देश की आजादी को आठ दशक बीतने जा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों की आय दुगनी करने का वादा किया था, लेकिन 10 साल में किसानों के कर्ज दुगना करने का काम किया। अब जब किसान प्रधानमंत्री मोदी को उनका वायदा याद दिलाना चाहता है तो खट्टर सरकार किसानों के साथ दमनकारी नीति अपना रही है। पूरे प्रदेश के अंदर धारा 144 लगवा दी गई है। आमजन को बेवजह परेशान किया जा रहा है।

उन्होंने कहा खट्टर सरकार किसानों को आतंकवादी समझकर किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन में भाग लेने से रोक रही है। उन्होंने उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को संबोधित करते हुए कहा कि आप ने खुद को किसान का बेटा कहकर जनता से वोट मांगने का काम किया था और अब आप भारतीय जनता पार्टी की गोद में जाकर बैठे हैं, जबकि चौधरी देवीलाल ने हमेशा से ही किसान हित की आवाज उठाने का काम किया था। उन्होंने कहा की इस देश के किसानों को दबाने के लिए भारतीय जनता पार्टी पूरी की पूरी ताकत लगाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा की आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर उनके एक एक कार्यकर्ता ने पहले भी किसान हित में काम किया था और आगे भी किसान हित में काम करेंगे।

उन्होंने कहा की एक तरफ तो चलो गांव की ओर अभियान चलाया जाता है, वहीं गांव में जाकर भूमि पुत्रों को धमकी दी जा रही है। उन्हें डराया और धमकाया जा रहा है। किसानों की आवाज को दबने नहीं दिया जाएगा। न पहले अन्नदाता किसान की आवाज को दबने दिया था और न आगे किसानों की आवाज को दबने दिया जाएगा। वहीं प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण घुसकानी ने कहा की प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों से एमएसपी लागू करने का वादा किया था। किसान उसको लेकर ही शांतिपूर्ण प्रदर्शन करेंगे, जबकि खट्टर सरकार ने किसानों के नाम पर जनता को तंग करना शुरू कर दिया है। धरतीपुत्र किसान ही जनता का पेट पालने का काम करता है और किसानों को ही दिल्ली जाने से रोका जा रहा है। हम मांग करते हैं कि एमएसपी की मांग पूरी होनी चाहिए।

वहीं प्रदेश अध्यक्ष किसान विंग कुलदीप भांभू ने कहा कि मोदी सरकार ने किसान नेताओं को तो खरीद लिया, लेकिन किसान अपनी मांगों को लेकर अड़ा हुआ है। समाज का ऐसा कोई अंग नहीं है चाहे युवा हो, किसान हो, मजदूर हों सबको त्रस्त करने का काम किया है। आम आदमी पार्टी किसानों की मांगों का पुरजोर समर्थन करती है।

Author

- विज्ञापन -

Latest News