Adani Group अब NDTV के अधिग्रहण के करीब, प्रणय राय एवं राधिका रॉय का प्रवर्तक समूह की इकाई से इस्तीफा

नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (NDTV) के संस्थापक प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय ने प्रवर्तक समूह की इकाई RRPR होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया है। दरअसल, अडाणी समूह अब इस समाचार चैनल के अधिग्रहण के करीब पहुंच चुका है। इस घटनाक्रम के बीच रॉय दंपति ने RRPR होल्डिंग के निदेशक पद से इस्तीफा दिया है। उल्लेखनीय है कि अडाणी समूह ने RRPR का अधिग्रहण कर लिया था। RRPR के पास NDTV की 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी है। हालांकि, रॉय दंपति के पास प्रवर्तक के रूप में NDTV में अब भी 32.26 प्रतिशत की हिस्सेदारी है और उन्होंने समाचार चैनल के निदेशक मंडल से इस्तीफा नहीं दिया है। प्रणय रॉय NDTV के चेयरपर्सन और राधिका रॉय MD हैं।

NDTV ने मंगलवार को शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि प्रणय और राधिका रॉय ने RRPR होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक मंडल से तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है। NDTV ने कहा कि RRPR होल्डिंग के निदेशक मंडल ने सुदिप्त भट्टाचार्य, संजय पुगलिया और सेंतिल सिन्नैया चेंगलवारायण की बोर्ड में तत्काल प्रभाव से निदेशक के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दे दी है। RRPR के निदेशक मंडल की मंगलवार को हुई बैठक में इन नियुक्तियों और इस्तीफों को मंजूरी दी गई। अडाणी समूह ने इस सप्ताह RRPR होल्डिंग का नियंत्रण हासिल कर लिया है। भट्टाचार्य, पुगलिया और चेंगलवारायण कंपनी में अडाणी समूह की ओर से मनोनीत किए गए हैं।

रॉय दंपति ने 2009 में रिलायंस इंडस्ट्रीज से जुड़ी एक कंपनी से 400 करोड़ रुपये का ब्याज-मुक्त ऋण लिया था। यह कंपनी विश्वप्रधान कर्मिशयल प्राइवेट लिमिटेड (VCPL) थी। इस कर्ज के बदले वीसीपीएल को वॉरंट को RRPR होल्डिंग के शेयर में बदलने का अधिकार मिल गया था। RRPR होल्डिंग के पास एनडीटीवी की 29.2 प्रतिशत हिस्सेदारी है। अडाणी समूह ने अगस्त में वीसीपीएल का अधिग्रहण कर लिया था और उसने वॉरंट को शेयरों में बदलने की बात रखी थी।

NDTV के प्रवर्तकों ने शुरुआत में इस कदम का विरोध करते हुए कहा था कि उनके साथ इस पर बातचीत नहीं हुई है, लेकिन इस सप्ताह की शुरुआत में उन्होंने इसकी अनुमति दे दी। इससे VCPL के पास RRPR होल्डिंग की 99.5 प्रतिशत हिस्सेदारी आ गई। RRPR (राधिका रॉय प्रणय रॉय होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड) अभी तक प्रवर्तक इकाई है। इसकी समाचार चैनल में 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी है। प्रणय रॉय के पास एनडीटीवी की 15.94 प्रतिशत और राधिका रॉय के पास 16.32 प्रतिशत (कुल 32.26 प्रतिशत) हिस्सेदारी है।

VCPL के अधिग्रहण के बाद अडाणी समूह द्वारा NDTV में 26 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए खुली पेशकश लाई गई है। यह पेशकश 22 नवंबर को खुली है और पांच दिसंबर को बंद होगी। अभी तक इस पेशकश को कुल आकार पर 53.27 लाख या एक-तिहाई शेयरों का प्रस्ताव मिला है। हालांकि, खुली पेशकश में शेयर का मूल्य NDTV के शेयर के मौजूदा भाव से काफी कम है। बीएसई पर एनडीटीवी का शेयर पांच प्रतिशत की बढ़त के साथ 447.70 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं, खुली पेशकश 294 रुपये प्रति शेयर के मूल्य पर की गई है।

अडाणी समूह का प्रयास एनडीटीवी के अल्पांश शेयरधारकों से 1.67 करोड़ शेयर या 26 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने का है। खुली पेशकश सफल होने के बाद अडाणी समूह की समाचार चैनल में 55 प्रतिशत से अधिक की नियंत्रक हिस्सेदारी हो जाएगी और संभवत: यह रॉय दंपति को चैनल के बोर्ड से बाहर करने का प्रयास करेगा। संजय पुगलिया अडाणी समूह के मीडिया ‘कारोबार’ के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) हैं।