IND vs BAN: चोटों से परेशान भारतीय टीम का लक्ष्य बांग्लादेश को ‘क्लीन स्वीप’ से रोकना

चटगांव: खिलाड़ियों की चोटों और फिटनैस समस्याओं से परेशान भारतीय टीम शनिवार को बंगलादेश के खिलाफ तीसरे और आखिरी वन डे में उतरेगी तो उसका लक्ष्य मेजबान टीम को ‘क्लीन स्वीप’ से रोकने का होगा। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा को दूसरे एकदिवसीय मुकाबले में क्षेत्ररक्षण के दौरान दूसरे ओवर में ही अंगूठे में चोट लगने के कारण वह बंगलादेश के खिलाफ तीसरे एवं अंतिम मुकाबले में नहीं खेल पाएंगे। बीसीसीआई ने कहा कि आगामी टैस्ट सीरीज के लिए उनकी उपलब्धता पर फैसला बाद में लिया जाएगा। बीसीसीआई की मैडीकल टीम ने रोहित की जांच की और ढाका के एक स्थानीय अस्पताल में उनका स्कैन किया गया।

विशेषज्ञ से परामर्श के लिए वह मुंबई लौट आए गए हैं। उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाज कुलदीप सेन और दीपक चाहर भी चोटिल होने के कारण बंगलादेश सीरीज से बाहर हो गए हैं। मेहदी हसन मिराज की दो शानदार पारियों के दम पर बांग्लादेश पहले दो मैच और शृंखला जीत चुका है, लेकिन अब उसका इरादा भारत का सूपड़ा साफ करने का होगा और अगर ऐसा होता है तो बंगलादेश क्रिकेट के लिए यह ऐतिहासिक होगा। इससे 14 दिसंबर से शुरू होने वाली टैस्ट शृंखला से पहले बंगलादेश का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। भारत के लिए इस शृंखला में 20 क्रिकेटर उपलब्ध थे क्योंकि बंगलादेश में पहले वन डे और न्यूजीलैंड में आखिरी मैच के बीच कम समय था क्योंकि दोनों टीमों में कुछ खिलाड़ी समान थे। एक सप्ताह के भीतर हालांकि हालात बद से बदतर हो गए और आखिरी मैच के लिये सिर्फ 14 फिट खिलाड़ी उपलब्ध हैं । हालात यह है कि कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव को तुरंत यहां बुलाना पड़ा क्योंकि भारतीय गेंदबाजी आक्रमण अनुभवहीन लग रहा था। कुलदीप ने 72 वन डे में 118 विकेट लिए हैं और वह इस टीम के सबसे अनुभवी गेंदबाज हैं।