चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की सऊदी अरब यात्रा ने चीन-अरब साझा भाग्य वाले समुदाय में नई प्रेरणा का संचार किया

इन दिनों चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग प्रथम चीन-अरब देश शिखर सम्मेलन और चीन-खाड़ी सहयोग परिषद शिखर सम्मेलन में भाग ले रहे हैं और सऊदी अरब की राजकीय यात्रा कर रहे हैं। इस मौके पर चाइना मीडिया ग्रुप के सीजीटीएन टिंक टैंक ने छिंगहुआ विश्वविद्यालय के एपस्टीन बाहरी संचार अनुसंधान केंद्र के साथ संयुक्त रूप से.

इन दिनों चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग प्रथम चीन-अरब देश शिखर सम्मेलन और चीन-खाड़ी सहयोग परिषद शिखर सम्मेलन में भाग ले रहे हैं और सऊदी अरब की राजकीय यात्रा कर रहे हैं। इस मौके पर चाइना मीडिया ग्रुप के सीजीटीएन टिंक टैंक ने छिंगहुआ विश्वविद्यालय के एपस्टीन बाहरी संचार अनुसंधान केंद्र के साथ संयुक्त रूप से एक जनमत सर्वेक्षण आयोजित किया, जिसमें दुनिया भर में 20 देशों के 4 हज़ार उत्तरदाताओं ने भाग लिया। सर्वेक्षण के अनुसार, 94.2 प्रतिशत वैश्विक उत्तरदाता चीन द्वारा प्रस्तावित “शांति, विकास, निष्पक्षता, न्याय, लोकतंत्र और स्वतंत्रता” वाले सभी मानव जाति के सामान्य मूल्य के प्रशंसक हैं, और 85 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने “मानव जाति के साझा भाग्य वाले समुदाय” की अवधारणा की प्रशंसा की।

पिछले 10 वर्षों में, चीन ने “बेल्ट एंड रोड” के संयुक्त निर्माण पर 20 अरब देशों के साथ सहयोग दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए हैं, और 17 अरब देशों ने चीन की वैश्विक विकास पहल का समर्थन किया है। दुनिया भर में 78.4 प्रतिशत उत्तरदाता वैश्विक विकास पहल से सहमत हैं, उनका मानना ​​है कि “विकास वैश्विक समस्याओं को हल करने का महत्वपूर्ण तरीका है”। वहीं, वैश्विक उत्तरदाताओं के 79.4 प्रतिशत ने चीन की भागीदारी वाले “वैश्विक विकास पहल के दोस्तों के समूह” की सहयोग उपलब्धियों का सक्रिय आकलन किया और माना कि अपेक्षाकृत उन्नत व्यापक राष्ट्रीय ताकत वाले देशों को अपनी राष्ट्रीय ताकत के अनुरूप अंतर्राष्ट्रीय ज़िम्मेदारियाँ निभानी चाहिए।

सर्वेक्षण में, 85.6 प्रतिशत वैश्विक उत्तरदाता चीन द्वारा प्रस्तावित वैश्विक सुरक्षा पहल से सहमत हैं, और मानते हैं कि सुरक्षा विकास की पूर्व शर्त है। 80.8 प्रतिशत लोगों ने आधिपत्य, बल की राजनीति और अन्य देशों पर मनमानी ढंग से प्रतिबंध लगाने की प्रथा का विरोध किया। विकासशील देशों के 80.4 प्रतिशत उत्तरदाताओं का कहना है कि शीत युद्ध की मानसिकता और बल की राजनीति विश्व शांति को खतरे में डाल देगी और सुरक्षा चुनौतियों को बढ़ाएगी, सभी देशों को संयुक्त रूप से संतुलित, प्रभावी और सतत सुरक्षा संरचना का निर्माण करना चाहिए।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

Author

- विज्ञापन -

Latest News