मुख्य सचिव जंजुआ ने ‘मेरा घर मेरे नाम’ योजना को लेकर की समीक्षा बैठक, कार्य को जल्द मुकम्मल करने के दिए निर्देश

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्य सचिव विजय कुमार जंजुआ ने आज ‘मेरा घर मेरे नाम’ योजना के कार्यान्वयन की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह राज्य में ‘मेरा घर मेरे नाम’ योजना के अंतर्गत चल रहे कार्य को जल्द से जल्द मुकम्मल किये जाने को सुनश्चित बनाएं। इस दौरान मुख्य सचिव को.

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्य सचिव विजय कुमार जंजुआ ने आज ‘मेरा घर मेरे नाम’ योजना के कार्यान्वयन की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह राज्य में ‘मेरा घर मेरे नाम’ योजना के अंतर्गत चल रहे कार्य को जल्द से जल्द मुकम्मल किये जाने को सुनश्चित बनाएं।

इस दौरान मुख्य सचिव को योजना की प्रगति संबंधी अवगत करवाया गया। उनको बताया कि राज्य के 4200 से अधिक गावों में ड्रोन मैपिंग का काम मुकम्मल हो चुका है और बाकी गावों में भी काम पूरे ज़ोर-शोर से चल रहा है। विजय जंजुआ ने इस योजना के अधीन की जाने वाली गतिविधियों की समीक्षा करते हुए कहा कि लाल लकीर की हदबंदी के लिए सभी जिलों में डीजीपीएस डिवाइस का प्रयोग किया जा सकता है, जिससे काम में तेज़ी लाई जा सके। उन्होंने ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग को निर्देश दिए कि जिलों को डीजीपीएस के लिए फंड जारी किये जाए। उन्होंने कहा कि इस कार्य को मिशन मोड पर पूरा करने के लिए कोई कसर बाकी न छोड़ी जाए।

मुख्य सचिव ने आगे कहा कि पंजाब लैंड रिकॉर्ड सोसायटी (PLRS) के फंडों में से सर्वे अफसरों को प्रति गांव के हिसाब से मानदेय अदा किया जाना चाहिए। उन्होंने PLRS को हिदायत की कि वह योजना को लागू करने के दौरान तैयार किये गए रिकॉर्डों की सॉफ्ट कॉपी मेंटेन करके रखें और रिकॉर्ड की हार्ड कॉपी सम्बंधित पटवारी के पास रहेगी। इस मौके पर अन्यों के अलावा वित्त कमिश्नर राजस्व के एपी सिन्हा, प्रमुख सचिव वित्त एके सिन्हा, डायरैक्टर सूचना एवं लोक संपर्क सोनाली गिरि, ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग के डायरैक्टर गुरप्रीत सिंह खैहरा उपस्थित थे।

Author

- विज्ञापन -

Latest News